वायरल वीडियो को लेकर सीएम योगी औऱ राहुल गांधी में ट्वीटर वार शुरू

एक वायरल वीडियो को लेकर सोशल मीडिया से लेकर सियासत के मैदान तक एक खास कैंपेन चलाया जा रहा है। घटना उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की है। जहां एक बुजुर्ग की पिटाई का वीडियो सामने आया। वीडियो में कुछ लोग बुजुर्ग की ढाढ़ी काटते नजर आए। आरोप ये लगाया गया कि क्योंकि बुजुर्ग मुस्लिम समुदाय से थे इसलिए उनके साथ ये बदसलूकी की गई। कांग्रेस नेता राहुल गांधी उत्तर प्रदेश सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि ऐसी क्रूरता समाज और धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है। फिर क्या था सूबे के कप्तान योगी आदित्यनाथ ने राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए उन्हें प्रभु राम की सीख दे डाली।

यह है पूरा मामला

गाजियाबाद में एक बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति की पिटाई करने और जबरन उनकी दाढ़ी काटने के आरोप में पुलिस ने और दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पीड़ित व्यक्ति का दावा है कि उनकी पिटाई करने वालों ने उनसे ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने को कहा था। हालांकि पुलिस ने इस मामले में साम्प्रदायिक पहलू होने से इंकार किया है। उनका कहना है कि सूफीअब्दुल समद की पिटाई करने वालों में हिन्दू-मुसलमान मिलाकर कुछ छह लोग शामिल थे और सभी उनके द्वारा बेचे गए ताबीज को लेकर नाखुश थे।

हरेक मुद्दे पर ट्विटर के माध्यम से लगातार सक्रिय रहने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गाजियाबाद प्रकरण में एक खबर की स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा कि ऐसी क्रूरता समाज और धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है। उन्होंने इस घटना से संबंधित एक खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘मैं ये मानने को तैयार नहीं हूं कि श्रीराम के सच्चे भक्त ऐसा कर सकते हैं। ऐसी क्रूरता मानवता से कोसों दूर है और समाज व धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है।’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राहुल पर बड़ा पलटवार किया है। राहुल के ट्वीट के जवाब में योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा- प्रभु श्री राम की पहली सीख है-“सत्य बोलना” जो आपने कभी जीवन में किया नहीं। शर्म आनी चाहिए कि पुलिस द्वारा सच्चाई बताने के बाद भी आप समाज में जहर फैलाने में लगे हैं। सत्ता के लालच में मानवता को शर्मसार कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश की जनता को अपमानित करना, उन्हें बदनाम करना छोड़ दें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!