प्रीतनगर में रेलवे द्वारा बार बार नापी जोखी से लोगो में आक्रोश

घनश्याम पाण्डेय/विनीत शर्मा(संवाददाता)

चोपन। नगर पंचायत अंतर्गत प्रीतनगर इलाके में रेलवे प्रशासन ने वहाँ के निवासियों के प्रति सख्त रुख अपनाते हुए गत दिनों वहा काबिज दर्जनों लोगों को नोटिस दिया था जिसमें कहा गया था कि यह रेलवे की भूमि है और इसे हर हालत में खाली करना होगा नोटीस में 15 दिनों का समय दिया गया था वहीं मंगलवार को रेलवे प्रशासन भारी संख्या में पूलिस बल के साथ जिसमें महिला पुलिस भी रहीं जिसको साथ लेकर नापी करने पहुंच गये जिसके बाद वहाँ के लोगों में हड़कंप मच गया । विगत दिनों रेलवे प्रशासन के नोटिस दिये जाने के बाद स्थानीय लोगों ने कड़ा विरोध भी किया था ।जिसके बाद नगर पंचायत अध्यक्ष फरीदा बेगम ने जिलाधिकारी को पत्र देकर प्रितनगर में पक्की पैमाइस करने की मांग की थी परंतु पक्की पैमाइस न कर पुनः रेलवे द्वारा काविज लोगो के घरों के नापी जोखी से एक बार फिर लोगो की नींद उड़ गई । इस संबंध में अध्यक्ष फरीदा बेगम ने बताया कि मेरे द्वारा जिलाधिकारी से लेकर रेलवे के आलाधिकारियों को पत्र भेजकर प्रितनगर में पक्की पैमाइस की बात की गई थी परंतु मेरे मांगो पर ध्यान न देकर रेलवे द्वारा विगत डेढ़ वर्षो से प्रितनगर के लोगो को हैरान और परेशान कर दिया है। वही स्थानीय लोगों का कहना है कि पिछले कई दशकों से वे इस जमीन पर रह रहें हैं । बिजली , पानी के बिल समेत नगर पंचायत को टैक्स भी देते हैं और राजस्व विभाग को निर्धारित शुल्क दिया है लेकिन रेलवे अड़ियल रुख अपना कर प्रीतनगर के जमीन को खाली करवाना चाहती है।वहीं इस बाबत आईवोडब्लू रतन शंकर ने कहा कि कोरोना की वजह से जिन लोगों को पूर्व में नोटीस जारी किया गया था उनका नापी नहीं हो पाया था आज 38 लोंगो की नापी हुई है बारिश की वजह से नापी का पूरा काम नहीं हो पाया आगे नापी का कार्य चलता रहेगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!