शरीर को आंतरिक रूप से फिट रखने के लिए योगा हैं जरूरी, जानें

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है। शरीर को आंतरिक रूप से फिट रखने के लिए योगा जरूरी है। योग करने से आप पूरा दिन बेहतर महसूस करते हैं साथ ही शरीर स्ट्रेचबल होता है।

ताड़ासन:
ये आसान आपके शरीर को लचीला बनाता है। वहीं शरीर को हल्का करता है और आराम देता है। ये वजन कम करनें में भी मदद करता है। साथ ही मांसपेशियों में काफी हद तक लचीलापन लाता है। इस आसन को करने के लिए खड़े होकर अपने कमर और गर्दन को सीधा रखें। अब आप अपने हाथ को सिर के ऊपर करें और सांस लेते हुए धीरे-धीरे पूरे शरीर को खींचें। वहीं इस खिंचाव को महसूस करें। कुछ समय के लिए इस पॉजिषन होल्ड करें।

भुजंगासन:
इसे करने से बेडौल कमर को पतली और सुडौल बनाता है। इसकी मदद से मोटापा कम होता है, साथ ही शरीर सुंदर और कान्तिमय बनता है। इस आसन को करने के लिए जमीन पर लेटकर और पीठ को मोड़कर किया जाता है। इस आसन को सर्प मुद्रा भी कहा जाता है क्योंकि इसको करते समय आपका सिर सांप के उठे हुए फन की मुद्रा में होता है।

उदराकर्षण आसन:
ये आसन करने से स्पाइनल की दिक्कत में काफी आराम मिलता है। साथ ही पेट की चर्बी, कब्ज, एसिडिटी और भूख न लगने जैसी समस्याएं ठीक होती हैं। इसे करने के लिए घुटने मोड़कर दोनों पैरों की एड़ी और पंजों पर बैठ जाएं और हाथों को घुटनों पर रखें। गहरी सांस भरें, फिर सांस निकालते हुए दाहिने घुटने को बाएं पंजे के पास जमीन पर टिकाएं और बाएं घुटने को छाती की ओर दबाएं। इस करते समय पेट पर दबाव बनता है।

तितली आसन:
इसको करने से मासिक धर्म की पीड़ा कम हो जाती है और प्रजनन अंग मजबूत होते हैं। इसको करने के लिए पैरों को सामने की ओर फैलाते हुए बैठ जाएं और रीढ़ की हड्डी सीधी रखें। अब घुटनों को मोड़ें और दोनों पैरों को श्रोणि की ओर लाएं, दोनों हाथों से अपने पांव को कस कर पकड़ लें। एड़ी को जननांगों के करीब रखने की कोशिश करें और तितली के पंखों की तरह दोनों पैरों को ऊपर नीचे हिलाना शुरू करें। इसे करते समय सांस लें और छोड़ें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!