मानसून के आहट से खेत की तैयारी में जुटा किसान

एस प्रसाद (संवाददाता)

-खेतों में देशी खाद पड़ने लगा तेजी से

म्योरपुर। मौसम का रुख देखते हुए किसान अब अपने खेतों की ओर चल पड़ा है,खेतों की तैयारी कैसी करनी है जिससे फसल का पैदावार अच्छा हो।खेत मे खूंटी डण्ठल की साफ सफाई के अलावा किसान गोबर की देशी खाद डालने में तेजी से जुट गए है।जिससे कि उनके फसल की पैदावार अच्छी होगी।हालांकि किसान के चेहरे पर चिंता की लकीरें झलक रही है क्योंकि कोरोना महामारी में पिछले
फसल का लागत भी नही निकल पाया है फिर भी किसान खेती के तैयार हो रहा है ऐसे उम्मीद से कि कुछ मिले या न मिले गरीबी की हालत में भी परिवार का किसी तरह पेट पल जाएगा।किसान रामविचार ने कहा कि पिछले वर्ष खाद की इतनी किल्लत थी कि फसल की आमदनी न के बराबर हुआ।अबकी बार देशी खाद से फसल उगाया जाएगा इसलिए कि (यूरिया-डीएपी)खाद खरीदने में असमर्थ हैं इस महामारी में परिवार का किसी तरह पालन पोषण हो रहा है।लाकडाउन से रोजगार भी बाधित रहा।लालबाबू ने कहा कि महामारी से आर्थिक हालत खराब हो जाने से खाद नही ख़रीदा जा सकता है गोबर खाद से ही काम चलाया जाएगा।उन्होंने कहा पिछले साल लैम्पस में अपनी उपज बेचने गया तो वहां के अधिकारी यह कर लेने से मना कर दिये कि गर्वमेंट ग्रांट की जमीन है।उस खतौनी पर नही लिया जाएगा।मजबूर होकर औने-पौने दाम पर साहूकारों से बेचना पड़ा।बहरहाल कुछ भी हो किसान मौसम के मिजाज अनुसार इस बार भी बिना नाफा-घाटा सोचे खेती की ओर अपना हाथ बढ़ा दिया है।इस सम्बंध में कृषि विभाग के म्योरपुर गोदाम इंचार्ज बृजेश कुमार सिंह ने कहा कि बीज उपलब्ध है कोई भी किसान अपना आधार कार्ड,खतौनी लेकर आये पचास प्रतिशत अनुदान पर बीज मिल रहा है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!