पेट की चर्बी कम करने के लिए ट्राई करें ये तुलसी और अजवाइन से बना काढ़ा, जानें बनाने का सही तरीका

पेट की चर्बी कम करनी हो या बढ़ते वजन को करना हो कंट्रोल, दोनों के लिए ही सबसे पहले शरीर को डिटॉक्स करना बेहद जरूरी होता है। अधिकतर लोगों का वजन तला-भुना और अनहेल्दी भोजन करने की वजह से बढ़ जाता है। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही है तो ट्राई करें ये तुलसी और अजवाइन से बना काढ़ा। यह काढ़ा न सिर्फ आपका वजन कम करने में मदद करेगा बल्कि आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म में भी सुधर लाता है। तो आइए जान लेते हैं क्या है इस काढ़े को बनाने का सही तरीका और फायदे।

तुलसी-अजवाइन का काढ़ा बनाने का तरीका:
तुलसी-अजवाइन का काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले एक चम्मच सूखे अजवाइन को एक गिलास पानी में रात भर के लिए भिगोकर रख दें। उसके बाद सुबह 4 से 5 तुलसी के पत्तों को अजवाइन के पानी में डालकर उबाल लें। अब पानी को एक गिलास में छान लें और इसे गर्म या ठंडा पी लें। जल्दी और अच्छे रिजल्ट के लिए आप इसे रोजाना सुबह पिएं। ध्यान रखें इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करें। इसका अधिक सेवन करने से सेहत को नुकसान भी हो सकता है।

तुलसी-अजवाइन काढ़े के फायदे:
अजवाइन का सेवन करने से मेटाबॉलिज्‍म अच्छा बना रहता है। वहीं तुलसी शरीर के लिए प्राकृतिक डिटॉक्स की तरह काम करती है।
-अजवाइन का सेवन करने से गैस्ट्रिक की समस्या दूर होकर डाइजेशन अच्छा बना रहता है। वहीं तुलसी शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर वजन घटाने में मदद करती है।
-अजवाइन का पानी पीने से शरीर का मेटाबॉलिज्‍म बढ़ता है, जिससे चर्बी घटने लगती है। वहीं तुलसी का सेवन करने से ऐसिडिटी, पेट में जलन की परेशानी दूर होने के साथ बॉडी का पीएच लेवल भी मेनटेन रहता है।
-अजवाइन में थाइमोल होता है, जो कैल्शियम को आपके दिल की ब्‍लड वेसल्‍स में प्रवेश करने से रोकता है और ब्‍लड प्रेशर को कम करता है। वहीं तुलसी के पत्ते शरीर के मेटाबॉलिक रेट को बढ़ाकर अधिक कैलोरी बर्न करने में मदद करते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!