बिहार में छात्राओं के लिए मुख्यमंत्री का ऐलान, कहा- इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में लड़कियों के लिए 33% सीटें आरक्षित होंगी

बिहार में छात्राओं के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बड़ा ऐलान किया है। खासकर वो छात्राएं जो आगे चलकर मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने जा रही है। सूबे में अब मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज के भीतर एक तिहाई सीट छात्राओं के लिए रिजर्व रहेगी। सरकारी ऐलान के अनुसार अब राज्य के सभी मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज में बिहारी छात्राओं को 33% आरक्षण मिलेगा।अधिकारियों के साथ बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में न्यूनतम एक तिहाई सीटें छात्राओं के लिए आरक्षित की जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के इंजीनियरिंग एवं मेडिकल कॉलेजों में नामांकन में न्यूनतम एक तिहाई सीट छात्राओं के लिए आरक्षित की जाए। इससे छात्राओं की संख्या और बढ़ेगी। यह यूनिक चीज होगा। इससे छात्राएं उच्च और तकनीकी शिक्षा की ओर और ज्यादा प्रेरित होंगी। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी जिलों में इजीनियरिंग कॉलेज खोले जा रहे हैं, कई मेडिकल कॉलेज भी खोले गए हैं। हमलोगों का उद्देश्य है कि इंजीनियरिंग एवं मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए बिहार के बच्चे एवं बच्चियों को बाहर नहीं जाना पड़े। इससे छात्राओँ की संख्या में इजाफा होगा।

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लड़कियों की पढ़ाई को लेकर काफी सजग हैं। पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान भी नीतीश कुमार लगातार छात्राओं को साइकिल देने जैसी योजनाओं का खूब जिक्र करते रहे हैं। नीतीश सरकार की ओर से इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में छात्राओं के लिए सीटें आरक्षित करने का एक और बड़ा कदम उठाया है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!