विद्यार्थियों के टीकाकरण के बाद हो परीक्षा-आचार्य प्रमोद चौबे

कृपाशंकर पांडे (संवाददाता)

-शैक्षणिक संस्थानों में सौ फीसद टीका की हो अनिवार्यता

ओबरा। सभी बोर्ड के इंटरमीडिएट के विद्यार्थियों के लिए कोविद 19 कोरोना के टीका की तत्काल व्यवस्था की जानी चाहिए, जिससे बोर्ड की परीक्षा में न्यूनतम खतरा रहे। उक्त बातें माध्यमिक शिक्षक संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष आचार्य प्रमोद चौबे ने पीएमओ, पीएम, सीएम आदि को ट्वीट कर कही है।
पूर्व जिलाध्यक्ष ने कहा कि परीक्षा के बजाय किसी और विकल्प पर गम्भीरता पूर्वक विचार किया जाना चाहिए था। अभी तक कोरोना के वैक्सीन में 18 वर्ष की न्यूनतम उम्र बाधक बनी हुई है। कक्षा 11 व 12 के विद्यार्थियों की अवस्था प्रायः 16 व 17 वर्ष की होती है। विद्यार्थियों के साथ ही शैक्षणिक कार्य से जुड़े सभी को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण की व्यवस्था होनी चाहिए, तभी परीक्षाएं ली जाएं। बता दें पूरे देश में एक करोड़ से अधिक परीक्षार्थी 18 वर्ष से कम उम्र में हैं।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!