जनपद में प्रतिदिन 5000 से अधिक कोरोना टेस्ट कराया जाय- प्रभारी मंत्री

अबुलकैश डब्बल ब्यूरो

* कोरोना की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत अस्पतालों में सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करें- प्रभारी मंत्री

चंदौली। राज्यमंत्री ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत विभाग उ0 प्र0 एवं जनपद के प्रभारी मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल का एक दिवसीय जनपद भ्रमण कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। प्रभारी मंत्री द्वारा कलेक्ट्रेट में स्थापित इंट्रीग्रेटेड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर तथा सर्विलांस सेल का निरीक्षण कर कोविड-19 संबंधित समुचित जानकारी ली गई एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। इस दौरान उन्होंने प्राप्त हुए फोन कालों एवं आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से संबंधित रजिस्टर पंजिका का अवलोकन कर समुचित कार्यवाही करवाए जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों का नियमित स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी हासिल किया जाए एवं उन्हें उचित परामर्श दिया जाए। प्राप्त होने वाले फोन कॉलो पर आवश्यकतानुसार फौरन प्रभावी कार्रवाई किया जाय।
तत्पश्चात कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में जनपद के आला अधिकारियों के साथ कोविड-19 से संबंधित समीक्षा बैठक की गई। बैठक के प्रारंभ में जिलाधिकारी संजीव सिंह द्वारा जनपद में कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं प्रभावी रोकथाम के संबंध में जनपद में की गई तैयारियों से अवगत कराया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में L-2 लेवल के 5 हॉस्पिटल संचालित है। अस्पतालों में 33 वेंटिलेटर सक्रिय हैं। कोविड-19 अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में बेड़ उपलब्ध है। ऑक्सीजन सिलेंडर एवं दवाइयों की भी पर्याप्त उपलब्धता पूरी तरह है । होम आइसोलेशन एवं कोविड युक्त मरीजों को दवा का वितरण तेजी से कराया जा रहा है। वर्तमान माह मई में 5664 व्यक्ति होम आइसोलेशन पूर्ण कर स्वस्थ हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि जनपद में रैमिडीसीवीर सहित अन्य जीवन रक्षक दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता है। जनपद के प्रत्येक तहसील एवं विकास खंडों में निगरानी टीमों का गठन किया गया है। जनपद में अब तक कुल 19938 मेडिसिन किट का वितरण लक्षण युक्त मरीजों में किया जा चुका है एवं किट वितरण का कार्य लगातार तेजी से किया जा रहा है। कोविड कंट्रोल रूम में 24 × 7 धंटे संचालित है। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों में 65 व ग्रामीण क्षेत्रों में 734 निगरानी समितियां क्रियाशील है जो पूरी मुस्तैदी से कार्य कर रही हैं । जनपद में जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन की उपलब्धता के लिए कुल 13 कम्युनिटी किचन सक्रिय हैं उन्होंने बताया कि जनपद में क्रय केंद्रों के माध्यम से तेजी से किसानों का गेहूं खरीद किया जा रहा है। दिनांक 26 मई तक कुल 36360 मेट्रिक टन गेहूं की रिकॉर्ड खरीद की जा चुकी है और तेजी से किसानों से गेहूं की खरीद चल रही है। जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना के संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत जनपद में समस्त आवश्यक तैयारियां की जा रही है। हॉस्पिटलों में बच्चों में संभावित संक्रमण की संभावना को देखते हुए पीकू बार्ड में समस्त आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे हैं। जनपद में आंशिक बंदी/ लॉक डॉउन पूरी तरह से पालन कराया जा रहा है। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ प्रवर्तन की कार्रवाई की जा रही है।

बैठक के दौरान माननीय मंत्री जी ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए पूरी सक्रियता के साथ कार्य कर रही है। इस महामारी के दौरान लोगों को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। नि:शुल्क राशन सहित अन्य कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जा रहा है। माननीय मंत्री ने निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद में कम से कम 5000 कोरोना टेस्ट अवश्य कराये जाय। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन पर और अधिक जोर देने की आवश्यकता है। कोरोना से बचाव हेतु वैक्सीनेशन सबसे कारगर है अतः अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक चिकित्सालय में बच्चों के लिए पर्याप्त आईसीयू बेड आक्सीजन तथा दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित हो। लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराया जाए। लोगों को नियमित रूप से मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। माननीय मंत्री ने कहा कि जनपद में निजी हॉस्पिटल किसी भी दशा में इलाज का ज्यादा शुल्क न वसूलें है यह सुनिश्चित किया जाए। कहां कि गांवों में तेजी से लक्षण युक्त मरीजों को चिन्हित करते हुए उन्हें मेडिकल किट वितरित कराया जाना सुनिश्चित किया जाए ताकि संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। माननीय मंत्री द्वारा समीक्षा के दौरान जनपद में कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिए की जा रही कार्रवाई कार्यवाही पर संतोष व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी सहित कोविड-19 में अहम भूमिका निभाने वाले अधिकारियों की सराहना करते हुए कहा कि जिला अधिकारी के नेतृत्व में जनपद में अच्छा कार्य किया जा रहा है। आगे भी हमें इसी निष्ठा व ईमानदारी के साथ कार्य करते हुए कोरोना महामारी को समाप्त करना है। कहा कि इस दौरान सभी को अत्यंत सावधानी बरतना आवश्यक है हिम्मत से काम लेना है कहीं भी लापरवाही नहीं बरतनी है।
इस दौरान इंडिया बुल फाउंडेशन के सी ए मृत्युंजय महादेव सिंह द्वारा वितरण हेतु 1000 मेडिसीन किट मा0 मंत्री को सौंपा गया।

बैठक के दौरान पीडीडीयू नगर विधायिका साधना सिंह, जिलाधिकारी संजीव सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित कुमार , ज्वाइंट मजिस्ट्रेट आरआर राम्या, अपर जिलाधिकारी अतुल कुमार, मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर बीपी द्विवेदी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!