शिक्षकों को कोरोना फ्रण्ट लाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल कर 18 प्लस टीकाकरण में प्राथमिकता देने की मांग

मनोज वर्मा(संवाददाता)

रेणुकूट। राजकीय शिक्षक संघ (मूल-संघ) उत्तर-प्रदेश के विंध्याचल मंडल के मंडलीय अध्यक्ष अशोक कुमार त्रिपाठी ने जनपद सोनभद्र, मिर्जापुर एवं भदोही के जिला विद्यालय निरीक्षकों को पत्र लिखकर मांग की है कि राजकीय माध्यमिक शिक्षक/ शिक्षिकाओं को कोरोना फ्रण्ट लाइन वर्कर अथवा वारियर की श्रेणी में सम्मिलित करते हुए 18 प्लस टीकाकरण में प्राथमिकता प्रदान की जाए। श्री त्रिपाठी का कहना है कि राजकीय माध्यमिक शिक्षक/ शिक्षिकाओं ने कोविड-19 महामारी की अत्यंत खतरनाक दूसरी लहर में भी अपने प्राण हथेली पर रखकर त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन -2021 एवं उसके पश्चात निर्वाचन- मतगणना के कार्य को बखूबी संपन्न कराया। इस प्रक्रिया में अनेक शिक्षक साथी इस महामारी की चपेट में आ गए एवं कुछ शिक्षक साथी अभी भी पीड़ित हैं। साथ ही यदि भविष्य में एक या दो माह के अंदर या उसके बाद जब भी इंटरमीडिएट परीक्षा का आयोजन होता है तो शिक्षकों के बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं एवं अन्य कर्मियों के संपर्क में आकर संक्रमण की चपेट में आने की संभावना अन्य लोगों की अपेक्षाकृत अधिक है। इसलिए जनपद -सोनभद्र, मिर्जापुर एवं भदोही में जब भी कोरोना टीकाकरण प्रारंभ हो, तो राजकीय शिक्षक/शिक्षिकाओं को फ्रंटलाइन वर्कर अथवा वारियर मानते हुए, टीकाकरण में प्राथमिकता प्रदान किया जाए।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!