खुले आसमान के नीचे भीग रहे गेंहू, किसानों को होगी परेशानी

विनोद कुमार (संवाददाता)

शहाबगंज। तौकते तूफान के कारण क्षेत्र में दो दिन से हो रही भारी बरसात के कारण किसानों को परेशान कर दिया है।जिन किसानों ने गेंहू बेचने के लिए क्रय केन्द्रों पर भेजा है।उनकी बिक्री नहीं होने के कारण खुलेआसमान के नीचें भीग रहे है।जिससे गेंहू के खराब होने की आशंका पैदा हो गयी है।जबकि जिन किसानों की खरीद हो भी गयी है उनका भी उठान नहीं होने के कारण बोरी में गेंहू भीग रहे हैं।
कोरोना काल के कारण किसानों को डेढ़ वर्ष से काफी क्षति उठानी पड़ रही है।फसल उत्पादन के बाजार में उचित मूल्य नहीं मिलने के कारण भारी घाटा उठाना पड़ रहा है।पिछले वर्ष भी खुले बाजार में गेंहू और धान का उचित मूल्य नहीं मिलने पर शासन द्वारा संचालित क्रय केन्द्रों पर जाकर काफी जद्दोजहद के बाद फसल बेचा।इस बार भी गेंहू का बाजार मूल्य काफी नीचे चल रहा है।वहीं सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य 1975 रुपया प्रति कुंतल होने के कारण छोटे बड़े सभी किसान विपणन शाखा पर स्थापित क्रय केन्द्र पर ही गेंहू बेचने के लिए परेशान है।जिससे दर्जनों की संख्या में किसानों के गेंहू तौल कराने के लिए पड़े हुए है।वहीं क्षेत्र में हो रही बरसात के कारण किसानों के गेंहू भीग रहे है।वहीं मौसम खुलने के बाद भी गेंहू के खराब होने की आशंका पैदा हो गयी है।वहीं किसानों के माथे पर चिन्ता की लकीरें साफ देखी जा रही है।क्योंकि फसल बेचने के बाद ही किसान अपने घर परिवार की जरूरत पुरा करते है।विपणन शाखा प्रभारी प्रियंका पाण्डेय ने कहां कि अचानक हुई बरसात से समस्या पैदा हुआ है।मौसम खुलने के बाद सभी किसानों के गेंहू की खरीद की जायेगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!