ईद के अवसर पर बाजारों में उमड़ी भीड़, लॉक डाउन का नहीं दिख रहा असर

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

फरीदपुर तहसील में आज पूरे देश में कोरोना जैसी घातक महामारी ने चारों तरफ हाहाकार मचा दिया है। बड़ी संख्या में लोगों की जाने जाने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना संक्रमण फैलना शुरू हो गया है। चारों तरफ भय व्याप्त हो गया है। जिधर देखो उधर सन्नाटा पसरा नजर आ रहा है। सरकार ने इस महामारी पर काबू पाने के लिए l लॉकडाउन लगाना ही एक सही विकल्प माना। और बड़े-बड़े विशेषज्ञ व वैज्ञानिक भी कोरोना की चैन तोड़ने के लिए लाकडाउन ही सबसे अच्छा तरीका माना और कोविड-19 नियमों का पूर्ण रुप से पालन करते रहने से ही इसे हराया जा सकता है ।सरकार ने इसी के तहत सुबह 6:00 बजे से 11:00 बजे तक की आवश्यक सेवाओं से जुड़ी दुकानों को ही खोलने की अनुमति दी थी ।वह भी कोविड-19 का पालन करते हुए मगर सुबह 6:00 बजते ही कोविड-19 नियमों का पालन कौन करें घरों से लोग दौड़ पड़ते हैं सामान खरीदने बाजारों में ।और इतनी भीड़ भाड़ 11:00 बजे तक देखी जा सकती है जैसे लगता है कि कोरोना संकट ही खत्म हो गया है।नाम मात्र ही पुलिस प्रशासन चौकसी बरते नजर आता है। ईद के पर्व को लेकर बाजारों में जमकर भीड़ देखने को मिल रही है। खरीदारी कर रहे लोग जमकर कोविड-19 के नियमों की धज्जियां उड़ाते देखे जा सकते हैं। इस स्थिति में कैसे जीती जा सकती है कोरोना से जंग जिस तरह सरकार बार-बार पूरे जनमानस को इस महामारी से बचने के लिए कोविड-19 का पालन करने का सुझाव दे रही है ऐसे में जनमानस का भी फर्ज बनता है वह अपना वह दूसरों के जीवन को बचाने के लिए कोविड-19 पालन करें। मगर बाजारों में लगने वाली भीड़ से ऐसा लगता है की कैसे जीती जाएगी कोरोना से जंग ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!