मेडिकल की थोक-फुटकर दुकानों पर प्रशासन ने मारा छापा, मचा हड़कंप

उमेश शर्मा (संवाददाता)

– डीएम के निर्देश पर हुई छापेमारी

– ब्लैक मार्केटिंग व ओवररेटिंग करने वाले दवा विक्रेताओं पर होगी कार्यवाही- ड्रग इंस्पेक्टर

लखीमपुर खीरी । डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह के निर्देश पर एसडीएम सदर डॉ अरुण कुमार सिंह के नेतृत्व तीन सदस्यीय दल ने जिला मुख्यालय की अस्पताल रोड व थरवरनगंज स्थित मेडिकल की थोक व फुटकर दुकानों पर छापा मारा। जिससे व्यापारियों में हड़कंप मच गया।

बाजारों में पल्स ऑक्सीमीटर सहित जीवन रक्षक दवाओं की उपलब्धता, निर्धारित मूल्य पर उसका विक्रय सुनिश्चित कराए जाने हेतु तीन सदस्यीय प्रशासनिक टीम ने बड़े पैमाने पर छापेमारी की। इस टीम सदस्यीय दल में एसडीएम सदर डॉ अरुण कुमार सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी सदर अरविंद कुमार वर्मा, ड्रग इंस्पेक्टर सुनील कुमार रावत शामिल हैं।

तीन सदस्यीय इस सचल दस्ते ने मेडिकल की थोक-फुटकर दुकानों पर उनका क्रय विक्रय रजिस्टर सहित अन्य दस्तावेजों की गहनता से पड़ताल की। निर्देश दिया कि पल्स ऑक्सीमीटर सहित कोविड के इलाज संबंधित जीवन रक्षक दवाइयों की उपलब्धता मार्केट में बनी रहे। ब्लैक मार्केटिंग एवं औवररेटिंग पाए जाने पर संबंधित मेडिकल एजेंसी एवं स्टोर का लाइसेंस निरस्त करते हुए अन्य कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

ड्रग इंस्पेक्टर सुनील कुमार रावत ने बताया कि जिला मुख्यालय समेत तहसील मुख्यालयों पर भी मेडिकल की थोक एवं फुटकर दुकानों पर छापेमारी कर ऐसे लोगों को चिन्हित कर कार्यवाही की जाएगी जिनके द्वारा ब्लैक मार्केटिंग एवं ओवररेटिंग की जा रही। उन्होंने बताया कि यदि दवा विक्रेता जीवन रक्षक दवाओं एवं पल्स ऑक्सीमीटर की ब्लैक मार्केटिंग ओवर रेटिंग करता है तो नंबर : 05872-252715, 252879 पर इसकी सूचना देख सकते हैं। सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा।

उन्होंने बताया कि गठित समिति द्वारा जिला मुख्यालय पर स्थित कई मेडिकल फर्मों का औचक निरीक्षण किया। जिसमें सभी फर्मो में कोविड संबंधी जीवन रक्षक दवाओं व पल्स ऑक्सीमीटर की पर्याप्त उपलब्धता पाई गई। उपलब्ध पल्स ऑक्सीमीटर की गुणवत्ता चेक की। जिसमें सभी पल्स ऑक्सीमीटर उच्च गुणवत्ता के मिले।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!