अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग दिवस : नर्सिंग जागरूकता प्रश्नोत्तरी का आयोजन

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । विकास समिति विपनेट क्लब की अध्यक्षा उर्मिला देवी ने ऑनलाइन मोड में आयोजित कार्यक्रम में जागरूकता लेख के माध्यम से व्यक्त करते हुए कहा कि आज संपूर्ण विश्व अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस मना रहा है ।आज ही के दिन 1820 में इटली में फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म हुआ ।उन्हें आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक माना जाता है। आज का दिन दुनिया भर की नर्सों और उनके प्रोफेशन के प्रति सम्मान को समर्पित है। क्रीमिया युद्ध के घायल सैनिकों की निस्वार्थ सेवा एवं नर्सों की प्रबंधक और प्रशिक्षक के रूप में उनकी सेवाएं सराहनीय रही हैं। उन्हें लेडी विद द लैंप भी कहा जाता है। 2021 अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस की थीम है ए वॉइस टु लीड,ए विजन फॉर फ्यूचर अर्थात नर्से विश्व पटल पर स्वास्थ्य प्रणाली का प्रतिनिधित्व कर सकती हैं। कोरोना संक्रमण काल में मरीजों के इलाज में मदद के साथ ही उन्हें मानसिक रूप से मजबूत करने का काम भी नर्से ही कर रही हैं।
चिकित्सक को धरती का भगवान कहा जाता है तो निश्चित ही नर्सें सेवा भाव, दयालुता ,समर्पण की देवियां हैं। फ्लोरेंस नाइटिंगेल ने समर्पण और सेवा भाव कि जो ज्योति प्रज्वलित की उसे आज भी नर्सों ने अपने व्यवहार से प्रज्वलित कर रखा है। पुरुष भी नर्सिंग कोर्स कर सकते हैं तथा अस्पताल व नर्सिंग होम में सेवा कर सकते हैं। मेल वार्ड ओटी इमरजेंसी सर्विस आदि में अपनी सेवाएं दे सकती हैं महारानी विक्टोरिया ने फ्लोरेंस नाइटिंगेल को रायल रेडक्रास सम्मान से सम्मानित किया। इस अवसर पर जाने फ्लोरेंस नाइटिंगेल चित्रकला प्रतियोगिता तथा नर्सिंग जागरूकता प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया एसएस स्कूल ऑफ नर्सिंग से कोमलप्रीत कौर तथा रेनू तथा संजय गांधी स्कूल आफ नर्सिंग पूरनपुर से श्रेया शर्मा, आभय और यशी पांडे ने श्रेष्ठता दिखाई। कार्यक्रम के संचालन में राजवीर कौर, संदीप कौर तथा ज्ञान प्रकाश गुप्ता का योगदान रहा। लक्ष्मीकांत शर्मा ने नर्सिंग स्कूलों के प्रशासन के प्रति आभार जताया कि कोरोना संक्रमण काल लगभग 220 प्रतिभागियों ने कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!