असम में हिमंत बिस्वा सरमा ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, राज्यपाल जगदीश मुखी ने दिलाई शपथ

हिमंत बिस्वा सरमा ने आज असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली । राज्यपाल जगदीश मुखी ने उन्हें शपथ दिलाई । श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र में नए मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण हुआ ।रविवार के दिन हिमंत बिस्वा सरमा को सर्वसम्मति से बीजेपी विधायक दल और उसके बाद फिर असम में एनडीए विधायक दल का नेता चुना गया था । उनके शपथ ग्रहण समारोह में आज बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल हुए । वहीं समारोह में जेपी नड्डा समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता भी शामिल हैं । सरमा के साथ-साथ कई मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई ।

रविवार को विधायक दल की बैठक में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी शामिल हुए । इसके अलावा, पार्टी के महासचिव अरुण सिंह भी वहां मौजूद थे । बैठक खत्म होने के बाद नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, “मैं सर्वसम्मति से हिमंत बिस्वा सरमा को विधायक दल का नेता घोषित करता हूं ।” उन्होंने आगे कहा, “हम राज्य के विकास की ओर अधिक ध्यान देंगे और जनता की उम्मीदों को खड़ा उतरने की पूरी कोशिश करेंगे।” वहीं विधायक दल की बैठक शुरू होने से पहले सर्बानंद सोनोवाल ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था ।

कौन हैं हिमंत बिस्वा सरमा

हिमंत बिस्वा सरमा असम की जालुकबारी विधानसभा सीट से लगातार पांचवीं बार विधायक चुने गए हैं । हिमंता बिस्वा शर्मा ने इस बार कांग्रेस के उम्मीदवार रामेन चंद्र बोर ठाकुर को हराकर विधानसभा पहुंचे हैं । इससे पहले वह सोनोवाल सरकार में मंत्री रह चुके हैं ।

हिमंत ने सरकारी लॉ कॉलेज से एलएलबी किया और गुवाहाटी कॉलेज से पीएचडी की उपाधि हासिल की है। वह साल 1996 से लेकर 2001 तक गुवाहाटी हाईकोर्ट में प्रैक्टिस भी कर चुके हैं ।

हिमंत बिस्वा सरमा पहले कांग्रेस पार्टी में थे लेकिन कुछ मतभेद होने के बाद उन्होंने साल 2015 में पार्टी छोड़ दी थी और बीजेपी में शामिल हो गए थे। खबर आई थी कि पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के साथ राजनीतिक मतभेदों के बाद उन्होंने यह कदम उठाया था।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!