नंदीग्राम से ममता बनर्जी की 1957 वोटों से हार, TMC पहुंची चुनाव आयोग कार्यालय

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस प्रचंड जीत की ओर बढ़ रही है। हालांकि बहुचर्चित सीट नंदीग्राम से ममता बनर्जी 1957 वोटों से चुनाव हार गई हैं । बीजेपी कैंडिडेट शुभेंदु अधिकारी ने उन्हें शिकस्त दी है । पश्चिम बंगाल में सबसे दिलचस्प मुकाबला इसी सीट पर था । शुरुआत में काफी देर तक शुभेंदु अधिकारी ममता बनर्जी से आगे चल रहे थे । लेकिन 16 राउंड की गिनती के बाद ममता बनर्जी लगभग 8 हजार वोट से आगे निकल गईं। हालांकि इसके बाद एक बार फिर ऐसा समय आया, जब शुभेंदु अधिकारी आगे हो गए थे ।आखिरकार अंत तक शुवेंदु अधिकारी जीत हासिल करने में कामयाब रहे । लेकिन टीएमसी ने फिर से मतगणना की मांग की है।

इस बीच 3 सदस्यीय टीएमसी का प्रतिनिधिमंडल कोलकाता में चुनाव आयोग के कार्यालय में मुख्य निर्वाचन अधिकारी से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने नंदीग्राम चुनाव परिणाम समेत कुछ अन्य मुद्दों पर चर्चा की ।

ममता बनर्जी ने कहा कि नंदीग्राम की बात भूल जाइए। मैं नंदीग्राम से चुनाव लड़ी क्योंकि यहां मैंने एक आंदोलन चलाया था। जो भी है ठीक है, मुझे नंदीग्राम की जनता का फैसला मंजूर है। हमलोगों ने 212 सीट पर जीत हासिल की है । बीजेपी को भारी शिकस्त मिली है।

वहीं, बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा है कि प्यार, विश्वास, आशीर्वाद, और समर्थन के लिए नंदीग्राम के महान लोगों को धन्यवाद । मुझे नंदीग्राम से उनके प्रतिनिधि और विधायक के रूप में चुनने के लिए बहुत-बहुत आभार। जनता की सेवा और उनके कल्याण के लिए काम करना मेरी कभी न खत्म होने वाली प्रतिबद्धता है । मैं वास्तव में आभारी हूं ।

हालांकि टीएमसी ने दावा किया है कि नंदीग्राम सीट पर काउंटिंग खत्म नहीं हुई है । इसलिए खुद से अंदाजा मत लगाइए । वहीं निर्वाचन आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि नंदीग्राम में आखिरी दौर की मतगणना पूरी हो चुकी है। लेकिन आयोग के पास परिणाम नहीं आया है। मतगणना के दौरान आयोग के सरवर्स पर भी बोझ बढ़ा जिससे धीमी रफ्तार से नतीजे अपलोड हुए हैं।

वहीं आयोग ने मतगणना के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर जीत का जश्न मनाने सड़कों पर उतरे लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की बात भी कही है ।

ममता बनर्जी की पार्टी को मिल रही इस जीत के बाद विभिन्न राजनीतिक दलों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बधाई देना शुरू कर दिया है । राज्य में विधानसभा की 294 सीटें हैं और बहुमत का आंकड़ा 148 है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने ममता को बधाई देते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस की ऐतिहासिक जीत देश के लिए भरोसा पैदा करने वाली है ।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘ममता बनर्जी जी भारतीय लोकतंत्र को बरकरार रखने के लिए जिस तरह से बहादुरी से लड़ीं और तमाम बाधाओं के बावजूद जीत हासिल की, उसके लिए उन्हें बधाई। यह ऐतिहासिक जीत देश के लिये भरोसा पैदा करने वाली है। पश्चिम बंगाल की जनता के विवेक को आभार।’

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘ममता दीदी को इस शानदार जीत की बधाई।क्या संघर्ष था ! पश्चिम बंगाल के लोगों को बधाई।’

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने भी ममता को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘इस शानदार जीत के लिये ममता बनर्जी को बधाई। हम इस चुनौतीपूर्ण समय में लोगों के कल्याण और महामारी से निपटने के लिए अपना काम जारी रखें।’

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में भाजपा की नफ़रत की राजनीति को हराने वाली जागरुक जनता, जुझारू सुश्री ममता बनर्जी जी व टीएमसी के समर्पित नेताओं व कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई!’

उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘ये भाजपाइयों के एक महिला पर किए गए अपमानजनक कटाक्ष ‘दीदी ओ दीदी’ का जनता द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब है। दीदी जिओ दीदी।’

तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डेरेक ओब्रायन ने कहा, ‘दुनिया की सबसे विध्वंसक ताकत ‘मो-शा’ की भाजपा के खिलाफ लड़ने के बाद यह एक भावुक दिन है। यह बंगाल और भारत के लिए यादगार दिन है। कोरोना को देखते हुए हमें जिम्मेदारी के साथ जश्न मनाना होगा।’



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!