मतगणना केंद्रों पर कोरोना प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

० कोरोना के बढ़ते विकराल रूप से सबक लेते नहीं दिखे समर्थक प्रत्याशी

० मतगणना केंद्र में प्रवेश से लेकर काउंटिंग तक नहीं दिखाई दी सोशल डिस्टेंसिंग

० अधिकारियों ने किया निरीक्षण और लिया जायजा

फरीदपुर तहसील में आज कोरोना महामारी ने जहां पूरे देश में हाहाकार मचा दिया है । कोरोना संक्रमित मरीजों की बेतहाशा केसों में बढ़ोतरी होने से अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड कम पड़ गए हैं ।ऑक्सीजन की भारी किल्लत पैदा हो गई है ।बड़ी संख्या में लोगों की जाने जा रही है ।शासन प्रशासन लाचार नजर आ रहा है ।श्मशान एवं कब्रिस्तान में शवों के अंतिम संस्कार करने के लिए जगह नहीं बची है। परिजनों को शवों के अंतिम संस्कार करने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। मगर हमारे देश के नेताओं ने इस विकराल कोरोना महामारी को नजरअंदाज कर पंचायत चुनाव कराने में मशगूल रहे। देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव भी कराए गए कहीं भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं हुआ इसी का नतीजा निकला कि देश में कोरोना की भयावह स्थिति हो गई ।और हमारे देश की न्यायपालिका को भी सरकार के इस कार्य एवं लापरवाही बरते जाने की निंदा करने को मजबूर होना पड़ा। पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत 2 मई को पंचायत चुनाव की मतगणना सुबह 8:00 बजे से मतदान केंद्रों पर शुरू कराई गई फरीदपुर में दो मतगणना केंद्र बनाए गए थे सी एस इंटर कॉलेज ,किसान इंटर कॉलेज ।सीएस इंटर कॉलेज में फरीदपुर ब्लॉक, किसान इंटर कॉलेज में भुत्ता ब्लाक के गांव की मतगणना हो रही है । मतगणना केंद्रों के गेटों पर सुबह 8:00 बजे से पहले ही मतगणना एजेंट एवं प्रत्याशियों की लंबी-लंबी लाइने मतगणना केंद्र के अंदर प्रवेश करने के लिए लग गई मतगणना केंद्रों के गेट पर ही मौजूद सुरक्षाकर्मी एवं अधिकारी गण मतगणना पास देखकर ही अंदर प्रवेश करने दे रहे थे और थर्मल स्क्रीनिंग जांच भी करके ही अंदर जाने दिया जा रहा था मगर मतगणना केंद्रों के गेट के बाहर इतनी लंबी लाइन लगी हुई थी उसे देखकर लग ही नहीं रहा था कि यहां पर सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा हो मतगणना स्थल के अंदर जाने को लेकर सभी उतावले नजर आ रहे थे ऐसा लग ही नहीं रहा था कि हमारे देश में कोरोना चल रहा है भी या नहीं ।किसान इंटर कॉलेज में सुबह लगभग 10:00 बजे मतगणना कार्य शुरू हो सका ।मतगणना कर्मियों की कमी की वजह से मतगणना कार्य विलंब से शुरू हुआ। मतगणना स्थल पर सर्वप्रथम न्याय पंचायत दलपुरा के ग्राम पंचायत मझौआ हेतराम की मतपेटियां खोलकर मतगणना शुरू हुई । मतगणना स्थलों पर सुबह 8:00 बजे से ही सुरक्षा व्यवस्था और कोविड-19 प्रोटोकाल के बीच मतगणना शुरू हुई ।मतगणना शांति और पारदर्शी तरीके से हो सके इसके लिए चाक-चौबंद व्यवस्था की गई थी । मतगणना के दौरान कमरो में प्रत्याशियों और एजेंटों ने सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गई ।कोरोना संकट के चलते मतगणना स्थलों पर इस तरह की लापरवाही इतनी खतरनाक साबित हो सकती है इसका अंदाजा भी इन लोगों को नहीं है। भीड़ में अधिकांश लोगों के मुंह पर मास्क लगे हुए नहीं थे। शारीरिक दूरी की बात करें तो कमरों में भीड़ इतनी थी कि लोग एक के ऊपर एक चढ़े हुए नजर आ रहे थे। वही मतगणना केंद्रों के बाहर भी भारी भीड़ समर्थकों की लगी थी ।पुलिस ने बेकाबू भीड़ को हटाने के लिए लाठियां भी फट कारनी पड़ी।

फरीदपुर दोनों स्कूलों में मतगणना स्थल पर एडीजी जोन अविनाश चंद्र,ए डी एम वीके सिंह एसपीआरए, राजकुमार अग्रवाल ने मतगणना स्थल का किया औचक निरीक्षण और कुछ खास दिशा निर्देश भी दिए साथ में उपजिला अधिकारी कुमार धर्मेंद्र क्षेत्राधिकारी तथा कोतवाली प्रभारी अपनी पुलिस फोर्स के साथ रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!