कोन पुलिस ने कोरोना रोकने का निकाला नायाब तरीका, बन्द करा दी बस, लेकिन छोटे वाहनों पर रोक नहीं

संजय केसरी (संवाददाता)

डाला। चोपन थाना अंतर्गत शनिवार को तेलगुड़वा से कोन के रास्ते विंढमगंज को जाने वाली निजी वाहनों (बस) को तीन दिन तक चलने वाले लॉकडाउन को देखते हुए कोन थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह ने बंद करा दिया है।
इस सम्बंध में निजी बस एसोसिएशन के अध्यक्ष नन्द किशोर जायसवाल ने बताया कि बसें कोन थानाध्यक्ष के आदेशानुसार बन्द कराई गई हैं । वही यात्री तेलगुड़वा में परेशान रहें जिससे टेम्पो चालको ने मनमानी रवैया अपनाएं हुए हैं और प्रति व्यक्ति 100 रुपया का शुल्क लेने के बाद कोन तक छोड़ने की बात सामने आई हैं । तीन दिन के लॉक डाउन में यातायात प्रभावित न हो सके इसके लिए सरकार द्वारा बसों को चलने से मना नही किया है। अब यात्री को दूर दराज से तेलगुड़वा आने के बाद कोन के रास्ते विंढमगंज या अन्य कही जाने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ।

इस रास्तों से होकर झारखण्ड के यात्री भी तेलगुड़वा से यात्रा किया करते है। निजी बस वाहन मालिक वाहनों को इंस्पेक्टर के डर से खड़ा करना उचित समझा। लॉकडाउन गरीबों की जेब पर भारी पड़ने लगा। जिन्हें किसी तरह कमा कर खाने की जुगाड़ करनी है वही अब 100 रुपया 35 किलोमीटर का देना पड रहा है । उसके साथ – साथ एक टेम्पो में 20 से ज्यादा सवारी भर कर ले जाया जा रहा है । जो खुलेआम सोशल डिस्टेंसिग व कोविड-19 की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं जहाँ एक तरफ सरकार कोरोना वायरस से लड़ने के लिए तरह तरह के हटकण्डे अपना रही हैं वही आखिर ये टैम्पो चालक किसके सह पर इतने सवारियों के जान के साथ खेलवाड़ करते नजर आ रहे हैं एक तो सड़क की हालत खुद पहले से जर्जर है उसमें भी आवश्यकता से ज्यादा लोड लेकर जा रहे हैं।

इस सम्बंध में थाना कोन इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह ने बताया कि तीन दिन के लॉक डाउन में सुरक्षा को देखते हुए शासन के मंशानुरूप बन्द कराया गया है।जब लोग निकलेंगे ही नही तो बसें क्यों चलेंगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!