वैक्सीनेशन सेंटर्स में 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र को टीकाकरण की करें तैयारी – प्रभारी मंत्री

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

● ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति का करें प्रबंध

● अस्पताल करें भर्ती करने में आनाकानी तो करें कार्रवाई

● होम आइसोलेशन वाले मरीजों को नियमित करें कॉल, भर्ती मरीजों को भी न हो कोई असुविधा

● कोरोना के अलावा बाकी मरीजों को असुविधा न हो, करें सुनिश्चित

● भर्ती मरीजों को भी कोई असुविधा न हो, यह सुनिश्चित करें

सोनभद्र । जिले के प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चंद्र द्विवेदी ने आज जिले के आला अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर कोरोना वायरस से बचाव और वैक्सिनेशन पर चर्चा किया तथा दिशा निर्देश दिया।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि 1 मई से वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू हो रहा है। अब 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगनी है, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग तैयारियां पूरी करें।

प्रभारी मंत्री ने लैब की टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए कहा, जल्द रिपोर्ट आने पर संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी। उन्होंने शहर के सभी सरकारी व निजी सैम्पल कलेक्शन सेंटर पर फिजिकल डिस्टेनसिंग का ध्यान रखने और सेंटर को लगातार सैनिटाइज कराने पर जोर देने के निर्देश दिए। ताकि टेस्ट कराने जाने वाले लोग अन्य लोगों से संक्रमण का शिकार न हों।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी सुनिश्चित करें कि लक्षणों के बाद भी मरीजों को भर्ती करने में कोई भी अस्पताल आनाकानी न करे। भर्ती के लिए आरटीपीसीआर के अलावा सीटी स्कैन, एक्सरे व एंटीजन टेस्ट को भी आधार मानें। कोरोना के मरीजों के अलावा बाकी मरीजों के लिए स्वास्थ्य विभाग टेलीमेडिसिन की भी व्यवस्था करें। अस्पताल में भर्ती मरीजों के इलाज के साथ ही भोजन और काढ़ा आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। संक्रमण वाले क्षेत्रों में नगर निगम के साथ पुलिस प्रशासन माइक्रो कन्टेनमेंट जोन का कड़ाई से पालन कराये। प्रभारी मंत्री ने नगर निगम के सभी जोन में सैनिटाइजेशन बढ़ाने और लगातार छिड़काव करने का भी निर्देश दिया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!