प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को किया संबोधित, कहा- राज्य प्रशासन श्रमिकों में भरोसा जताएं ताकि वे पलायन न करें

देश में कोरोना से बिगड़ते हालात के बीच पीएम मोदी आज रात देश को संबोधित किया । पीएम मोदी देश में कोरोना से बिगड़े हालात समेत अन्य मसलों पर बात किया । पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर तूफान बनकर आ गई । उन्होंने कहा कि जो पीड़ा आप सह रहे हैं मुझे उसका एहसास है। पीएम मोदी ने कहा कि हम हौसले और तैयारियों से यह जंग जीतेंगे । इस दौरान पीएम मोदी ने सभी कोरोना योद्धाओं की सराहना भी की । उन्होंने कहा कि बीते दिनों में जो कदम उठाए गए हैं उससे स्थिति को सुधारेंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि देश में ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ी है। हर जरूरतमंद को ऑक्सीजन पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। राज्यों को ऑक्सीजन पहुंचाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश का फार्मा सेक्टर मजबूत है । हम दवाई कंपनियों से हर संभव मदद ले रहे हैं ।

पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन भारत में है। भारत में दो कंपनियों की वैक्सीन के साथ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया गया। दुनिया में सबसे तेजी से पहले दस करोड़ फिर 11 करोड़ फिर 12 करोड़ डोज दिए गए हैं। हमें इससे हौसला मिलता है कि देश की जनसंख्या के बड़े हिस्से को वैक्सीन लग चुकी है ।

पीएम मोदी ने कहा कि राज्य प्रशासन श्रमिकों में भरोसा जताएं ताकि वह पलायन ना करें । पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीनेशन अभियान में तेजी लाई जा रही है। गरीबों को, श्रमिकों को भी वैक्सीन मिलेगी । इस दौरान उनका काम भी चलता रहेगा । राज्य प्रशासन देश के अलग-अलग राज्यों में श्रमिक मौजूद हैं। वो वहीं रहें पलायन ना करें।

पीएम मोदी देश को ऐसे में संबोधित किया जब देश में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है । इस दौरान कयास लगाए जा रहे थे कि क्या पीएम मोदी देश में फिर से लॉकडाउन का ऐलान करेंगे या फिर कोरोना को लेकर कोई नया एक्शन प्लान जारी करेंगे । लेकिन पीएम मोदी ने साफ कहा कि लॉक डाउन कोई विकल्प नहीं है इसलिए राज्य सरकारें लॉक डाउन को अंतिम विकल्प के तौर पर देखें । यानी कुल मिलाकर लॉक डाउन से सरकार इस बार बचना चाहती है ।

बता दें कि कोरोना की पहली लहर के दौरान देश में कोरोना के मामले इतनी अधिक संख्या में सामने नहीं आए थे । दूसरी लहर के दौरान देश में पिछले कुछ दिनों से लगातार कोरोना के दो लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए जा रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि देश के कई राज्यों के अस्पतालों में बेड्स की किल्लत है । कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन की भी कमी का सामना करना पड़ रहा है । देश में कई ऐसी मौतें ऑक्सीजन की कमी से रिपोर्ट की गई हैं ।

देश में कोरोना से बिगड़े हालात के बीच हाल ही में पीएम मोदी ने एक बैठक के बाद ऐलान किया था कि एक मई से देश में वैक्सीनेशन अभियान का तीसरा चरण शुरू होगा । इस दौरान 18 साल से ऊपर की उम्र के सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएग । उन्होंने कहा कि पिछले साल से ही हम कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाने की कोशिश कर रहे हैं । देश में वैक्सीनेशन अभियान रिकॉर्ड तेजी के साथ चल रहा है । हम आने वाले समय में वैक्सीनेशन की रफ्तार और तेज करेंगे ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!