चोपन में जागरूकता के अभाव में कोरोना को लेकर लापरवाह दिखे लोग

घनश्याम पाण्डेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

चोपन। जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। हालांकि स्वस्थ मरीजों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी हुई है। लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। लगातार कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए केंद्र व राज्य सरकार ने जागरूकता कार्यक्रम चला रखा है। इसके बावजूद लोगों पर इसका कोई असर नहीं दिख रहा है। शहर के बाजार में आसपास के इलाके से बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंच रहे हैं। इस बाजार में न तो लोग मास्क लगाते नजर आए और न ही शारीरिक दूरी का पालन भी कर रहे। मास्क न लगाने पर जुर्माना के प्रावधान का भी यहां कोई असर नहीं दिख रहा है।
बाजार में ज्यादातर ग्रामीण महिलाएं कोरोना वायरस से बचने मास्क की जगह अपनी साड़ी के पल्लू को बांधे दिखे, जबकि ज्यादातर शिक्षित व सभ्य लोग बिना मास्क के ही बाजार में घूमते रहे। बाजार के अलावा इधर गांव-गांव हर दिन लगने वाले बाजार में भी स्थिति लापरवाही से भरी पड़ी है। न तो दुकानदार और न ही ग्राहक मास्क का प्रयोग कर रहे हैं।

गौरतलब है कि रेणुकापार के जुगैल थाना क्षेत्र अति दुरुह ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण बढ़ रहे कोरोना महामारी को लेकर काफी लापरवाह नजर आ रहे हैं क्योंकि ग्रामीण अभी भी महामारी को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं बताते चले कि जुगैल क्षेत्र से भारी संख्या में मजदूर अन्य प्रदेशों में मजदूरी करने जाते हैं अब चुंकि एक बार फिर से कोरोना महामारी तेजी से पैर पसार रहा है ऐसे में मजदूरों के घर वापसी का सिलसिला शुरू हो गया है लोग गांव में आ रहे प्रवासी मजदूरों से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को नजर अंदाज कर तमाम स्थानों पर जगह जगह चुनावी सभा में शरीक होकर पार्टी मना रहे हैं। मानो इनको पता ही नहीं कोरोना का संक्रमण किस कदर अपने आगोश में लेकर लोगों को निगल रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में जन जागरूकता की आज भी खासी कमी दिख रही है अगर समय रहते कुछ ठोस कदम नहीं उठाया गया तो स्तिथि भयावह रुप ले सकती है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!