बाहर से आने वाले व्यक्तियों पर रखी जाये नजर व उनकी की जाये कोरोना जांच- जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत। जिलाधिकारी पुलकित खरे की अध्यक्षता में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभावी रोकथाम एवं उपचार के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग व नामित नोडल, पर्यवेक्षण अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक गांधी सभागार में सम्पन्न हुई। कोरोना बढ़ते प्रभाव के दृष्टिगत जिलाधिकारी द्वारा मास्क व सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन कराने हेतु नगर मजिस्ट्रेट, पुलिस क्षेत्राधिकारी व समस्त अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि उद्योग बन्धु व व्यापारियों के साथ जागरूकता के साथ साथ संघन निरीक्षण अभियान संचालित किया जाये और जो व्यक्ति बिना मास्क के पाया जाये तो उस पर जुर्माना लगाया जाये और साथ ही साथ जो दुकानदार अपने यहां कोरोना प्रोटोकाल के अनुपालन न करते पाये जाये उनको चेतावनी देते हुये अगली वार जुर्माना लगाते हुये आवश्यक कठोर कार्यवाही की जाये।
आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने सर्विलांस प्रभारी को निर्देशित करते हुये कहा कि समस्त टीमों को सक्रिय करते हुये आगामी 15 दिन का माइक्रो प्लान बनाकर सघन जांच अभियान चलाया जाये तथा उसकी सूचना प्रति आशा के द्वारा किये गये सर्वे की सूची सहित एमओआईसी व टेस्टिंग प्रभारी को उपलब्ध कराई जाये और अगले दिन सूची से खांसी, जुखाम, बुखार लक्षण पाये जाने व्यक्तियों का टेस्टिंग करानी सुनिश्चित किया जाये। मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि समस्त ग्राम पंचायतों में निगरानी टीमों को सक्रिया करना सुनिश्चित किया जाये तथा डीपीआरओ आगामी 02 दिनों में समस्त विकास खण्डों पर निगरानी टीम के सदस्यों के साथ बैठक सम्पन्न कर उनको निर्देशित किया जाये कि गांव में बाहर से आने वाले व्यक्तियों की सूचना तत्काल कंट्रोलरूम को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। अपर चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप प्रतिदिन टेस्टिंग कार्य सुनिश्चित किया जाये। दौरान अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 सी0एम0चतुवेद्वी को निर्देशित किया गया कि जनपद की सीमा खंनका,चुर्रासकतपुर ललौरीखेडा, गढ़वा चैकी, बिरहनी, मुडलिया गेसू में कैम्प स्थापित कर लोगों की कोविड जांच और बढ़ाई जाये तथा सभी स्थलों पीआरडी जवानों की तैनाती कर आने वाली समस्त बसों के यात्रियों की जांच कराई जाये। उन्होंने कहा कि ई संजीवनी ऐप का व्यापक प्रचार कराया जाये और लोगों को अपने मोबाइल में ऐप डाउनलोड करने हेतु जागरूक किया जाये। ई-संजीवनी ऐप के माध्यम से घर बैठे अपनी बीमारी से सम्बन्धित विशेषज्ञ डाक्टर से निशुल्क परामर्श प्राप्त कर सकते है, बैठक के दौरान जिलाधिकारी द्वारा होम आईसोलेशन माॅनीटिरिंग टीम, टेस्टिंग कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग माॅनीटिरिंग टीम, एल वन व एल टू फैसिलिटी सहित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर गहनता से समीक्षा की गई।
बैठक में ज्वाइंड मजिस्ट्रेट नूपुर गोयल, मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) अतुल सिंह, नगर मजिस्ट्रेट अरूण कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी सदर, जिला विकास अधिकारी योगेन्द्र पाठक, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0सी0एम0 चतुर्वेदी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अश्वनी कुमार सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!