पंचायत भवन निर्माण में लापरवाही पर सचिव को प्रतिकूल प्रविष्टि

संतोष जायसवाल/हनीफ खान (संवाददाता)

● समय से कार्य पूर्ण न कराना पड़ा भारी

● एडीओ पंचायत को लगाई कड़ी फटकार

● कार्य बंद मिला तो होगी कार्यवाही

सोनभद्र । आज जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह ने विकास खंड करमा के ग्राम पंचायतों में निर्मित सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवन तथा स्कूलों पर निर्मित स्कूल शौचालय का निरीक्षण किया। इस दौरान ग्राम पंचायत सिरसिया जेठी में पंचायत भवन का छत की ढलाई का कार्य पूर्ण पाया गया। यहां के सामुदायिक शौचालय में गड्ढे की फिटिंग में जो पाइप लगाई गई है उसकी गुणवत्ता अत्यंत खराब पाई गई। जिसको तत्काल बदलवाने के लिए सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) को निर्देशित किया साथ ही यह भी निर्देशित किया कि बिना पाइप बदले इसका भुगतान न किया जाए। शौचालय में अंदर कार्य अधूरा पाया गया। गांव के लोगो ने बताया कि कई दिनों से कार्य बंद है।

ग्राम पंचायत करकोली में पंचायत भवन का कार्य छत स्तर तक दीवार का कार्य करा कर कार्य बंद कर दिया गया है। सत्यापन के समय कार्य बंद पाया गया एवं गांव के लोगों द्वारा बताया गया कि कार्य कई दिन से बंद है। इस पर सचिव एवं सहायक विकास अधिकारी पंचायत को तत्काल कार्य शुरू कराने हेतु डीपीआरओ ने निर्देशित किया।

ग्राम पंचायत सरंगा में सामुदायिक शौचालय का कार्य अधूरा पाया गया। बाहर से सभी पेंटिंग का कार्य कराए गए हैं परंतु सामुदायिक शौचालय में पानी की कोई व्यवस्था नहीं कराई गई है, जिसके कारण सामुदायिक शौचालय प्रयोग योग्य नहीं है। सामुदायिक शौचालय की विधिवत जांच के लिए सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) से इस कार्य की पत्रावली कार्यालय में प्रेषित करने हेतु डीपीआरओ ने निर्देशित किया।

वहीं ग्राम पंचायत कठपुरवा में आरजीएसए के अंतर्गत निर्मित पंचायत भवन में प्लास्टर का कार्य बाहर से पूर्ण हो गया है। अंदर तीन दीवारों पर प्लास्टर का कार्य अवशेष है। पंचायत भवन में बिजली, शौचालय का कार्य अभी अवशेष है जिसको कार्य पूर्ण कराने हेतु सचिव एवं सहायक विकास अधिकारी पंचायत को निर्देशित किया साथ ही कार्य में लापरवाही के कारण सचिव नरेश सिंह को प्रतिकूल प्रविष्टि देने हेतु भी निर्देशित किया। ग्राम पंचायत कठपुरवा के प्राथमिक पाठशाला में निरीक्षण में शौचालय की स्थिति अत्यंत खराब पाई गई। सचिव द्वारा स्कूल शौचालय की मरम्मत नहीं कराई गई है जिस पर इसका तत्काल मरम्मत कराने हेतु निर्देशित किया साथ ही सहायक विकास अधिकारी (पं0) को निर्देशित किया कि सामुदायिक शौचालय व पंचायत भवन एवं स्कूल शौचालय की सत्यापन करा लिया जाय। जिन स्कूल शौचालयों में मरम्मत की आवश्यकता है, साथ ही बूथ वाले स्कूल शौचालयों को प्राथमिकता के आधार पर मरम्मत करा ली जाए। पंचायत भवन सामुदायिक शौचालय के कार्य को समय से पूर्व किया जाना भी सुनिश्चित करें। निरीक्षण में जिन पंचायत भवन एवं सामुदायिक शौचालय पर काम बंद पाया जाएगा उस सचिव एवं सहायक विकास अधिकारी के खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

निरीक्षण के समय सहायक विकास अधिकारी पंचायत करमा राम शिरोमणि पाल एवं डीपीसी अनिल केशरी उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!