फिर तेजी से फैल रहा कोरोना, लोगों की लापरवाही बन रही जानलेवा

घनश्याम पाण्डेय/विनीत शर्मा(संवाददाता)

-नगर में भी मिले कोरोना पाजटीव प्रशासन सतर्क

चोपन। कोरोना के बढ़ते रफ्तार के क्रम में नगर में भी कुछ लोग कोरोना पाजटीव पाये गये हैं जिसके बाद प्रशासन गंभीर हो गया है अधिशासी अधिकारी महेंद्र सिंह ने बताया कि नगर में जहाँ जहाँ कोरोना पाजटीव पाये गये हैं वहां पर सेनेटाईज कराया जा रहा है साथ ही बैरेकेटिंग भी कराया जा रहा है ताकि बढ़ते संक्रमण को रोका जा सके।

गौरतलब है कि गत वर्ष यही वह समय था, जब कोरोना रूपी महामारी ने पूरे जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया था मन भयाक्रांत हो गया था और समय जैसा जहां था, वहीं ठहर सा गया था। महामारी से कैसे बचे इसको लेकर ज्ञकिसी ठोस समाधान की दिशा में कदम बढ़ा सकें, बस उस दिन की प्रतीक्षा थी। तब राहत की सांस मिली, जब वैक्सीन आने की खबर मिली। पर इसके साथ एक चेतावनी भी आई कि बेशक वैक्सीन आई है, पर कोरोना गया नहीं है, आप सावधानी जरूर बरतें प्रश्न उठता है कि क्या हम सबने इसे उतनी गंभीरता से लिया? संक्रमण कम होने के साथ ही लोगों के मन में पहले जैसा डर नहीं रहा। लेकिन अब जब कोरोना का संक्रमण फिर से तेजी से फैल रहा है, लोगों का लापरवाह हो जाना अच्छा नहीं है। मास्क का त्याग करना या इसे लेकर बेपरवाह होना, भीड़-भाड़ वाली जगहों पर सतर्कता नहीं बरतना, शादी-समारोहों में शामिल होने के बाद सुरक्षा नियमों का पालन नहीं करना.. यानी संयम का अभाव हर जगह नजर आ रहा है। यह ऐसी प्रवृत्ति है, जो आमतौर पर हावी रहती है और वास्तविक हितों से आपको दूर कर देती है। आप छोटे-छोटे प्रलोभनों में फंसते चले जाते हैं। मुश्किलें जो कभी छोटी नजर आती थीं, वे अचानक जीवन को अस्त-व्यस्त कर रही हैं। यकीनन संयम केवल सेहत को ही बेहतर नहीं करता, बल्कि जीवन को भी सुंदर बना देता है। यही एक चीज है, जिसमें है हर समस्या का समाधान।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!