विश्व होम्योपैथिक दिवस पर गोष्ठी का हुआ आयोजन

घनश्याम पाण्डेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

चोपन। रावट्सगंज नगर स्थित न्यू कॉलोनी में ललिता देवी मेमोरियल चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा विश्व होम्योपैथिक दिवस पर एक गोष्टी का आयोजन डॉ ए बी प्रसाद की अध्यक्षता में किया गया गोष्ठी में सभी लोगों के द्वारा डॉ हैनीमैन के चित्र पर पुष्प अर्पित करते हुए कार्यक्रम शुरू हुआ होम्योपैथ चिकित्सक डॉ संजय कुमार सिंह ने बताया इस चिकित्सा विद्या में रोगों को समूल नाश करने की क्षमता होती है सर्जरी को छोड़कर एक्यूट व क्रॉनिक रोगों को ठीक करने के कारण जनमानस में विशेष लोकप्रिय हैं कोरोना की रोकथाम में भारत सरकार द्वारा दिए गए गाइडलाइन के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए काफी कारगर सिद्ध हुई करोना का खतरा अभी टला नही है ऐसे में हमे विशेष एहतियात बरतने की ज़रूरत है सभी चिकित्सको को यह प्रयास करना चाहिए कि हम अपने चिकित्सकीय कार्य के अलावा थोड़ा समय निकालकर जनमानस को जागरूक करने का प्रयास करे। आदित्य कुमार सिंह ने बताया हम बच्चों के लिए हैं होम्योपैथ की मीठी गोली का जादुई असर रामबाण है। सौम्या सिंह ने बताया यह चिकित्सा पद्धति बहुत ही बेजोड़ है जब आप अपने रोग से हताश हो जाते हैं तब होम्योपैथ आशा की किरण लेकर सामने आता है बस इसमें शर्त यही है कि अपने लक्षणों को विस्तार पूर्वक अपने चिकित्सक को बताएं डॉ ए एन कुशवाहा ने डॉ हनीमैन के जीवनी पर विस्तृत प्रकाश डाला डॉ दिनेश ने मुख रोगों में होम्योपैथ की तारीफ की। पंकज, आयुष, प्रियंका, शशिकांत वर्मा, रवि कांत ने अपने अपने विचार व्यक्त किए ट्रस्ट की न्यासी सुषमा सिंह ने सभी लोगों का आभार व्यक्त किया। डॉ ए बी प्रसाद ने बताया की होम्योपैथ एक सागर के समान है लक्षण रूपी मोतियों को चुनकर सही दवा का चुनाव कर रोगी को ठीक करना हमारा चिकित्सकीय धर्म है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!