फिल्म ‘हैलो चार्ली’ की समीक्षा

फिल्म की कहानी:
हैलो चार्ली की कहानी चिराग रस्तोगी/ चार्ली (आदर जैन), गोरिल्ला (टोटो) के आस पास घूमती है। चार्ली एक पिज्जा डिलिवरी ब्वॉय है, जो बड़े बड़े सपने देखता है। ऐसे में एक बार उसे मुंबई से गोरिल्ला को बाहर दूसरी जगह ले जाने की जिम्मेदारी मिलती है। चार्ली को इस बात का अंदाजा नहीं होता है कि जिसे वो गोरिल्ला समझ कर ले जा रहा है वो टोटो नहीं बल्कि स्कैमर मकवाना (जैकी श्रॉफ) है। अब इसके बाद क्या होता है और कैसे फिल्म के बाकी किरदार एक दूसरे से जुड़ते हैं, ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी। फिल्म आपको जहां खूब हंसाती है तो वहीं कुछ कुछ जगहों पर बोर भी करती है। फिल्म में एमडी मकवाना (जैकी) की गर्लफ्रेंड का किरदार मोना (एलनाज नौरोजी) निभा रही हैं।

कैसी है फिल्म में एक्टिंग:
बात सितारों की एक्टिंग की करें तो आदर जैन को अभी काफी कुछ सीखने की जरूरत है। वहीं श्लोका को काफी कम स्क्रीन टाइम मिला है, लेकिन अपनी एक्टिंग और डांस से उन्होंने दिल जीता है। जैकी श्रॉफ हमेशा की तरह ही शानदार रहे हैं, वहीं एलनाज ने भी अच्छा काम किया है। वहीं फिल्म के सपोर्टिंग कैरेक्टर्स जैसे गिरीश कुलकर्णी और राजपाल यादव के लुक्स तो फनी रहे, लेकिन किरदार में कुछ दम नजर नहीं आया।

फिल्म में इस्तेमाल हुआ असली गोरिल्ला:
चूंकि फिल्म एक गोरिल्ला के इर्द- गिर्द घूमती है, ऐसे में सबसे अच्छी बात रही है गोरिल्ला का सूट, जो किसी भी जगह पर नकली नहीं लगता है। हालांकि बता दें कि फिल्म में अधिकतर असली गोरिल्ला का भी इस्तेमाल हुआ है। फिल्म के डायलॉग्स अधिक बेहतर हो सकते थे।

फिल्म देखें या नहीं:
कुल मिलाकर बात ये है कि आप फिल्म को देख सकते हैं। फिल्म आपको बोर नहीं करेगी लेकिन बहुत उम्मीद रखकर मत देखिएगा। हालांकि मूड फ्रेश करने के लिए इस फिल्म को आप परिवार और खास तौर पर बच्चों के साथ एन्जॉय कर सकते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!