पॉक्सो एक्ट : दोषियों को 4-4 साल की कैद

* 34 हजार 500 रुपये अर्थदंड, न देने पर छह माह की अतिरिक्त कैद

* महिला दोषी को एक साल की कैद

* 27 हजार 500 रुपये अर्थदंड , न देने पर एक माह की अतिरिक्त कैद

राजेश पाठक (संवाददाता)

सोनभद्र। विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट पंकज श्रीवास्तव की अदालत ने शुक्रवार को पॉक्सो एक्ट में दोषियों रामजी मिश्रा व धर्मेंद्र तिवारी को दोषसिद्ध पाकर 4-4 साल की कैद एवं प्रत्येक को 34 हजार 500 रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। वहीं अर्थदंड न देने पर 6-6 माह की अतिरिक्त कैद भुगतनी होगी। साथ ही महिला दोषी रेनू मिश्रा को एक साल की कैद एवं 27 हजार 500 रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। वहीं अर्थदंड न देने पर एक माह की अतिरिक्त कैद भुगतनी होगी।
अभियोजन पक्ष के मुताबिक शक्तिनगर थाने में दी तहरीर में पीड़िता के पिता ने दी तहरीर में आरोप लगाया था कि 24 जुलाई 2017 को वह अपने घर में मौजूद था कि शक्तिनगर थाना क्षेत्र के चदुआर गांव निवासी रामजी मिश्रा दोपहर करीब डेढ़ बजे घर में घुस आए और उसे गाली देते हुए मारने पीटने लगे। इसीबीच उसकी बुआ रेनू मिश्रा एवं उसका पति धर्मेंद्र तिवारी भी आ गए। ये लोग भी जातिसूचक शब्दों से गाली देते हुए मारने-पीटने लगे। शोरगुल की आवाज सुनकर कई लोग आ गए तब जान मारने की धमकी देते हुए चले गए। इस तहरीर पर मारपीट एवं एससी/एसटी एक्ट में एफआईआर दर्ज कर मामले की विवेचना सीओ अनिल कुमार सिंह द्वारा की गई। विवेचना के दौरान वादी मुकदमा की नाबालिग बहन के साथ छेड़खानी किए जाने का मामला प्रकाश में आया। जिसपर छेड़खानी एवं पॉक्सो एक्ट के धारा की बढोत्तरी की गई। विवेचक ने पर्याप्त सबूत पाए जाने पर न्यायालय में चार्जशीट दाखिल किया था। मामले की सुनवाई करते हुए अदालत ने दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं के तर्कों को सुनने, गवाहों के बयान एवं पत्रावली का अवलोकन करने पर दोषसिद्ध पाकर दोषियों रामजी मिश्रा एवं धर्मेंद्र तिवारी को 4-4 साल की कैद एवं प्रत्येक को 34 हजार 500 रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। वहीं अर्थदंड न देने पर छह माह की अतिरिक्त कैद भुगतनी होगी। साथ ही महिला दोषी रेनू मिश्रा को एक साल की कैद एवं 27 हजार 500 रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। वहीं अर्थदंड न देने पर एक माह की अतिरिक्त कैद भुगतनी होगी। अभियोजन पक्ष की ओर से विशेष अभियोजन अधिकारी दिनेश प्रसाद अग्रहरि ने बहस की।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!