किसान परेशान खेत में नेता चुनाव में

मनोहर कुमार

* पंचायत चुनाव को लेकर कमर कसने लगे दावेदार।
* किसान खेतों में बहा रहे पसीना।
* किसान व नेता दोनों फसल काटने को तैयार।
* टिकट के लिए दावेदार राजनीतिक दरबार में।
चंदौली।धान के कटोरे के रूप में विख्यात चंदौली जनपद में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर राजनीतिक रस्साकसी तेज हो गई है। रबी की फसल काटने के लिए किसान व वोटों की फसल काटने के लिए विभिन्न पदों के दावेदार परेशान हैं। गांवों में पंचायत चुनाव की सरगर्मी बड़ गई है। आरक्षण की स्थिति साफ होने के बाद दावेदार अब स्वस्थ खेल खेलने में लग गया हैं।टिकट लिए राजनीतिक दरबार में भी दस्तक दी जाने लगी है।
धान के कटोरे के रूप में विख्यात चंदौली जनपद में गेहूं की लहलहाती फसल पक कर खेतों में तैयार है।किसान फसल को काटकर खलिहान में रखने व इसकी मड़ाई था ओसाई के जुगाड में लग गए हैं।इधर त्रि स्तरीय पंचायत चुनाव की बयार बहने लगी है।नेता चुनावी फसल रूपी वोट को खाद पानी देने में लगे हैं।ताकि मतदान के समय पक्ष में आ जाए। विभिन्न पदों के दावेदार खेत से लेकर खलिहान तक किसानों के साथ निभा रहे हैं।अन्न दाता अपने फसल को सुरक्षित रखने में व्यस्त है। इस बार के चुनाव में राजनीतिक दिलचस्पी भी बड़ गई है। विभिन्न दलों से विभिन्न दलों के दावेदार टिकट पाने के लिए बड़े नेताओं के परिक्रमा भी लगा रहे हैं।जिला तथा क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के दावेदार टिकट पाने के लिए मैराथन दौड़ लगाने लगे हैं।हालांकि राजनीतिक दल चरण वाइज उम्मीदवारों की घोषणा भी कर रहे हैं। जनपद के प्रथम नागरिक अथवा जिला पंचायत अध्यक्ष पद पिछड़ा वर्ग होने के कारण इसके लिए हर राजनीतिक दल से मजबूत व कद्दावर सदस्यों की तलाश हो रही है। जो सभी मापदंड में फिट हो। गांवों में चल रही राजनीतिक कयास बाजी भी नई पंख को जन्म दे रही है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!