लापरवाही पड़ी भारी, डीएम ने विभिन्न विभागों के डेढ़ दर्जन अधिकारियों का रोका वेतन

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आईजीआरएस पोर्टल से संबंधित शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही बरतने व जन समस्याओं के प्रति उदासीन रवैये रखने पर जिले की जन समस्याओं के निस्तारण की स्थिति डिफाल्टर की हो गयी है। जिस पर जिलाधिकारी ने सख्त कार्रवाई करते हुए डेढ़ दर्जन विभागों के अधिकारियों का मार्च माह के वेतन आहरण पर अग्रिम आदेश तक रोक लगाते हुए जवाब-तलब किया है। जिलाधिकारी के इस कार्रवाई से अधिकारियों में हड़कम्प मचा हुआ है।

जिलाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने आज मुख्यमंत्री कार्यालय, जिलाधिकारी संदर्भ, ऑनलाइन संदर्भ, पीजी पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान कुछ विभागों की स्थिति खराब पाये जाने पर उन्होंने कहा कि जन समस्याओं का निस्तारण शासन की उच्चतम् प्राथमिकता का बिन्दु होने के बावजूद भी निस्तारण में लापरवाही बरता जाना अत्यन्त आपत्तिजनक है तथा कार्यो के प्रति अपेक्षित रूचि नही लिए जाने का द्योतक है।

शिकायतों के निस्तारण में शिथिलता व लापरवाही पर जिलाधिकारी ने सख्त कदम उठाते हुए उप जिलाधिकारी राबर्ट्सगंज व ओबरा, तहसीलदार घोरावल, खण्ड विकास अधिकारी कोन, जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, प्रभारी चिकित्साधिकारी करमा, जिला कार्यक्रम अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी करमा व कोन, सहायक विकास अधिकारी दुद्धी, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत ओबरा, अधिशासी अभियन्ता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, अधिशासी अभियन्ता जल निगम, अधिशासी अभियन्ता विद्युत राबर्ट्सगंज, अधिशासी अभियन्ता विद्युत पिपरी, जिला समाज कल्याण अधिकारी का माह मार्च, 2021 का वेतन अग्रिम आदेश तक रोक दिया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!