एबीटीएपी रेल डिब्बों से राख़ भेजने वाला देश का पहला विद्युत संयंत्र एनटीपीसी रिहंद स्टेशन -बालाजी आयंगर

मुकेश अग्रवाल (संवाददाता)
-कार्यकारी निदेशक (रिहंद) बालाजी आयंगर का इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रतिनिधियों के साथ सम्पन्न हुयी पत्रकार वार्ता

बीजपुर। एनटीपीसी के रिहंद स्टेशन में सोमवार को शिवालिक अतिथि गृह में स्टेशन प्रबंधन के तत्वावधान में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रतिनिधियों के साथ कार्यकारी निदेशक (रिहंद) की वार्ता हर्षपूर्ण वातावरन में सम्पन्न हुयी। इस आयोजन में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित कार्यकारी निदेशक (रिहंद) बालाजी आयंगर ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रतिनिधियों द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब बड़े ही सहजतापूर्ण एवं तार्किक ढंग से देते हुये कहा कि रिहंद स्टेशन के कर्मियों एवं अधिकारियों मे विषम से विषम परिस्थितियों में भी चुनौती स्वीकार करने की क्षमता है । इस बात का जीता जागता प्रमाण यह है कि चालू वित्तीय वर्ष में कोविड-19 के बावजूद भी रिहंद स्टेशन उपलब्धियों से भरा रहा। उन्होने कहा कि यह स्टेशन 500 मेगावाट से शुरू होकर आज 3000 मेगावाट उत्पादन की क्षमता वाला स्टेशन बन गया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 के दौरान एनटीपीसी समूह नें देश की कुल स्थापित क्षमता के 17% भाग से कुल बिजली में 22% योगदान दिया है। कंपनी ने वर्ष 2032 तक 1,30,000 (एक लाख तीस हज़ार) मेगावाट की स्थापित विद्युत क्षमता पैदा करने का लक्ष्य स्थापित किया है। नैगम सामाजिक दायित्व निर्वहन की कड़ी में ग्रामों के सार्वांगीन विकास में भी सीएसआर विभाग अहम भूमिका का निर्वहन कर रहा है। उन्होने कहा कि बीटीएपी रेल डिब्बों से एनटीपीसी रिहंद स्टेशन राख़ भेजने वाला देश का पहला विद्युत संयंत्र है।

बालाजी आयंगर ने कहा कि वाराणसी रिंग रोड परियोजना के निर्माण में एनटीपीसी रिहंद से फरवरी 2021 तक 2.74 एलएमटी राख़ भेजी जा चुकी है। रिहंद स्टेशन की 3000 मेगावाट की क्षमता के अतिरिक्त 20 मेगावाट सौर ऊर्जा का कार्य निर्माणाधीन है। रिहंद स्टेशन पर्यावरण संरक्षण एवं उद्योग समन्वय में भी महत्वपूर्ण भूमिका को निभा रहा है। राख़ उपियोगिता की वृद्धि में इसका प्रभावी कदम है। वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान रिहंद स्टेशन एवं इसकी स्वयंसेवी संस्थाओं नें बढ़चढ़ कर लोगों की सहायता के लिए काफी योगदान दिया है। यह स्टेशन उत्पादन के साथ-साथ पुरस्कारों में भी काफी कीर्तिमान हासिल किया है। इसके पूर्व कार्यक्रम के शुरुआती दौर में महाप्रबंधक (तकनिकी सेवाएँ ) ए के पपनेजा नें एनटीपीसी एवं रिहंद सुपर थर्मल पवार स्टेशन का प्रस्तुति एवं अपने सम्बोधन के माध्यम से एनटीपीसी को विश्वसनीय हरित ऊर्जा की ओर अग्रसर होते हुये बताया। उन्होने रिहंद स्टेशन का संक्षिप्त परिचय , उद्योग एवं पर्यावरण संरक्षण समन्वय , राख़ उपयोगिता की वृद्धि हेतु प्रभावी कदम , वैश्विक महामारी कोविड -19 के दौरान रिहंद स्टेशन का योगदान , स्टेशन द्वारा नैगम सामाजिक दायित्व निर्वहन की दिशा में किया जा रहा अनोखा प्रयास, स्टेशन को मिले पुरस्कार एवं उपलब्धियों आदि से पत्रकारों को अवगत कराया। सम्पूर्ण आयोजन कोविड -19 महामारी को ध्यान में रखते हुए उससे संबंधित दिशा-निर्देशों के अनुपालन में सम्पन्न किया गया ।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से जनपद के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रतिनिधिगण ,महाप्रबंधक (ओ एंड एम) के एन रेड्डी , महाप्रबंधक (अनुरक्षण) ए के चट्टोपाध्याय , सीएमओ डॉ. रेनू सक्सेना ,वरिष्ठ प्रबन्धकों में नीरज कुमार , अजीत कुमार , अमित धीमान आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम की समाप्ति पर धन्यवाद ज्ञापन अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन) एस वी डी रवि कुमार ने किया। कार्यक्रम का संचालन एवं आगंतुकों का स्वागत कार्यपालक (नैगम संचार) शिक्षा गुप्ता ने किया ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!