क्रय केन्द्र पर किसान भाई सभी डॉक्युमेंट लेकर पहुंचे- जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे की अध्यक्षता में गेहूॅ खरीद कार्यशाला का आयोजन गांधी सभागार में सम्पन्न हुई। आयोजित कार्यशाला में जिला खाद्य विपणन अधिकारी द्वारा गेहूॅ क्रय नीति के सम्बन्ध में जानकारी देते हुये कहा कि गेहूॅ समर्थन मूल्य योजना के अन्तर्गत जनपद में 01 अप्रैल 2021 से 15 जून 2021 तक गेहूॅ का क्रय प्रात 9 बजे से सायं 6 बजे तक सम्पन्न किया जायेगा। जिसके अन्तर्गत जनपद में 121 क्रय केन्द्रों की स्थापना की गई है। इस वर्ष न्यूनतम समर्थन मूल्य योजनान्तर्गत गेहूॅ का मूल्य रू0 1975/-प्रति कु0 निर्धारित किया गया है। गेहूॅ क्रय केन्द्रों पर पंजीकृत किसानों द्वारा ही गेहूॅ बिक्री किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ लाने के लिए किसान भाई गत वर्ष धान खरीद में किये गये पंजीकरण को अपने मोवाइल नम्बर से किसी भी जनसुविधा केन्द्र या साइबर कैफे पर खोलकर उसमें नामिनी का आधार कार्ड सम्मिलित करते हुये गेहूॅ का रक्वा भर कर पुनः पंजीकरण कराये। पंजीकृत कृषकों का ही गेहूॅ क्रय केन्द्र क्रय किया जायेगा। इसके उपरान्त गेहूॅ बिक्री हेतु क्रय केन्द्र बैंक पासबुक, पंजीकरण पत्र, स्वयं का आधार कार्ड, नामिनी का आधार कार्ड व खतौनी लेकर अवश्य जाएं इस बार बटाईदार भी अपना पंजीकरण कराकर बटाई का सहमति पत्र लेखपाल से प्रमाणित कराकर अपना गेहूॅ विक्रय कर सकते है। उन्होंने कहा कि इस बार गेहूॅ खरीद में 12 प्रतिशत तक की नमी का गेहूॅ ही खरीद के लिए अनुमन्य होगा, इसके ऊपर 14 प्रतिशत तक की नमी का गेहूॅ खरीद करने पर किसान भाईयों से 02 प्रतिशत की कटौती की जायेगी। इस लिये किसान भाई गेहूॅ सूखाकर ही केन्द्र पर विक्रय हेतु लायें।
आज आयोजित बैठक में जिलाधिकारी द्वारा सभी केन्द्र प्रभारियों व संस्थाओं के जिला प्रबन्धकों को कड़े निर्देश देते हुये कहा कि गेहूॅ क्रय केन्द्रों पर खरीद पूरी पारदर्शिता के साथ सम्पन्न की जायेगी और अधिक से अधिक किसानों को योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा। इस कार्य में किसी भी प्रकार की अनियमित्ता या लापरवाही पाये जाने पर कठोर कार्यवाही की जायेगी। केन्द्र नियत समय पर खोले जायेगें और प्रतिदिन लक्ष्य के अनुरूप खरीद सुनिश्चित की जायेगी। कोई भी जिला प्रबन्धक बिना अनुमति के मुख्यालय नही छोडेगा अन्यथा कठोर कार्यवाही की जाये। समस्त प्रबन्धकों व केन्द्र प्रभारियों को 01 अप्रैल से पूर्व केन्द्र पर बैनर, कांटा, सहित समस्त उपकरण की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये और यदि किसी प्रकार की कमी हो तो तत्काल अवगत कराया जाये, सभी केन्द्रों पर पर्याप्त मात्रा में बोरो की व्यवस्था, भण्डारण की उपलब्धता के साथ साथ ट्रांसपोटेशन की व्यवस्था पहले से ही सुनिश्चित कर ली जाये। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी केन्द्र प्रभारियों को अपने क्षेत्र के किसानों का प्रतिदिन पंजीकरण की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि यदि कोई किसान बिना पंजीकरण के केन्द्र पर गेहूॅ बिक्री हेतु लेकर आता है तो तत्काल उसका पंजीकरण कराकर गेहूॅ क्रय करना सुनिश्चित किया जायेगा। केन्द्रों पर किसानों के लिए सामन्य जन सुविधाऐं उपलब्ध कराई जाये। उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि केन्द्र सार्वजनिक भवन में स्थित हों। कार्यशाला में जिला कृषि अधिकारी द्वारा गेहूॅ की प्रजातियों के सम्बन्ध में, एआरकोआपाटिव, मण्डी सचिव सहित अन्य द्वारा गेहूॅ क्रय नीति के सम्बन्ध में अवगत कराया गया।
इस दौरान अपर जिलाधिकारी (वि.रा.) अतुल सिंह, जिला खाद्य विपणन अधिकारी, मण्डी सचिव, समस्त उप जिलाधिकारी, जिला कृषि अधिकारी सहित जिला प्रबन्धक व केन्द्र प्रभारी मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!