दो लड़कियों के हत्या का खुलासा, परिजन निकले हत्यारे

राजेश गुप्ता (जिला संवाददाता)

पीलीभीत। अभी हाल में दो लड़कियों का शव कासिमपुर गांव के ईट भट्टे पर पाया गया था । घटना के बाद पोस्टमार्टम रिपोर्ट में एक की मृत्यु का कारण गला दबाने तथा दूसरे की हैंगिंग से होना पाया गया था। उक्त प्रकरण में कोतवाली बीसलपुर पुलिस द्वारा मुकदमा अपराध संख्या 132/21 धारा 302/201 भारतीय दंड विधान के अंतर्गत पंजीकृत किया गया था । इस सनसनीखेज वारदात का आज पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश ने खुलासा करते हुए बताया कि घटना के बाद ही पुलिस द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया था जिसमें भट्टे पर काम करने वाले कर्मचारियों मजदूरों तथा उनके परिवारों से सघन पूछताछ की गई थी । उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा हर पहलू पर बारीकी से जांच की जा रही थी। पुलिस के द्वारा सभी संदिग्ध फोन नंबरों की सीडीआर प्राप्त कर पूछताछ भी की गई तो घटना कुछ और ही निकली । पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि लड़कियां फोन से किसी से बात कर रही थी इसी बीच परिवार वालों ने देख लिया, जब उन्होंने लड़कियों से पूछताछ की तो उक्त लड़कियों द्वारा नहीं बताने पर मृतक लड़कियों के दो सगे भाइ राम प्रताप ब विजय प्रताप तथा माता कमला देवी के द्वारा दोनों लड़कियों की हत्या कर दी गई। हत्या करने के बाद घटना को नया रूप देने के लिए एक लड़की के शव को पेड़ पर लटका दिया गया तथा दूसरी का शव सड़क के किनारे फेंक दिया गया।

निरीक्षक ने बताया है कि यह घटना 7 से 7:30 बजे के आसपास की है तथा लाश को छुपाने व लटकाने में रामप्रताप के बहनोई अनिल का भी सहयोग रहा है। पुलिस जांच में स्पष्ट हुआ है की बड़ी लड़की फोन से महेश नाम के लड़के से बात कर रही थी परिजनों के द्वारा बार-बार पूछे जाने पर भी लड़कियों ने नाम नहीं बताया था और घरवालों को यह जानकारी नहीं थी कि इनके पास भी फोन है। विवेचना के दौरान मालूम हुआ कि यह फोन संजीव नामक लड़के ने दिया था तो उसी भट्टे पर काम करता है संजीव छोटी लड़की और महेश बड़ी लड़की से बात करता था। परिवार वालों ने बड़ी लड़की की शादी भी तय कर कर रखी थी, दोनों लड़कियों के इस व्यवहार से नाराज होने के कारण परिजनों ने इस जघन्य घटना को अंजाम दिया है। यह सारी घटना ठेकेदार रामदास तथा भट्टा मालिक को पता थी फिर भी पुलिस को भट्टा मालिक के द्वारा घटना की जानकारी नहीं दी गई। पुलिस के द्वारा मृतक लड़कियों का भाई तथा मां रामप्रताप पुत्र भूप राम शर्मा निवासी ग्राम बिलासपुर बिलसंडा तथा कमला देवी पति भूप राम निवासी ग्राम बिलासपुर बिलसंडा तथा भट्टा मालिक अली हसन अंसारी पुत्र हाजी मेहंदी हसन निवासी मोहल्ला ग्यासपुर कस्बा व थाना बीसलपुर जिला पीलीभीत को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। घटना में शामिल विजय प्रताप व अनिल की पुलिस के द्वारा तलाश की जा रही है जल्द ही गिरफ्तार कर दोनों को जेल भेजा जाएगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!