15 सूत्री मांगपत्र देकर जरूरी कार्यवाही करने का किया मांग

कृपाशंकर पांडे (संवाददाता)

ओबरा। राज्य मंत्री ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत रमाशंकर पटेल ने स्थानीय ओबरा तापीय परियोजना का निरीक्षण कर 660 मेगावाट की ओबरा सी के निर्माण कार्य व 200 मेगावाट की यूनिटों के परिचालन का जायजा लिया।इसके बाद परियोजना के उच्चाधिकारियों के साथ बैठक कर जरूरी दिशा निर्देश दिए वहीं बिजली कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष अजय कुमार सिंह के आवास पर शिष्टाचार भेंट के दौरान ओबरा नगर में ऊर्जा राज्य मंत्री के प्रथम आगमन पर इं अदालत वर्मा के नेतृत में अभियंता संघ के प्रतिनिधियों द्वारा पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया गया।

इस अवसर पर ओबरा तापीय परियोजना सहित ऊर्जा क्षेत्र की ज्वलंत की समस्यायों से 15 सूत्री मांगपत्र देकर जरूरी कार्यवाही करने की मांग किया ।साथ ही मैनपावर मैटेरियल और मनी के अभाव से जूझ रही राष्ट्र निर्माण में लगातार 50 वर्षो से भी अधिक समय से उत्पादनरत ओबरा तापीय परियोजना की अन्य समस्या बिंदु से भी अवगत कराया।कहा कि उत्पादन निगम लिमिटेड में विभिन्न पदों पर रिक्त पड़े स्थानों पर नियुक्ति / प्रोन्नति शीघ्र की जाए।निगम प्रबंधन द्वारा परफॉर्मेंस पैरामीटर कि लक्ष्य प्राप्ति ना होने पर कार्मिकों को चेतावनी /आरोप पत्र देकर एक तरफा जिम्मेदार ठहराना को अनुचित माना तथा इन चेतावनी आरोप पत्र को तत्काल निरस्त किया जाय।विगत 10 वर्षों से ओबरा तापीय परियोजना के परिचालन एवं अनुरक्षण मद में कोई इजाफा नहीं हुआ है ओबरा प्रबंधन द्वारा निगम प्रबंधन को मद में मद में बढ़ोतरी हेतु कई बार पत्र द्वारा आग्रह उपरांत भी मद मे कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। संगठन द्वारा परिचालन एवं अनुरक्षण के मद को 3.58 करोड़ से 5 करोड़ करने की मांग की गई।
पूर्व में निगम प्रबंधन द्वारा जनरेशन इंसेंटिव जैसी प्रोत्साहन नीति और पुरानी पेंशन स्कीम को पुनः शुरू करने की मांग की।जर्जर एवं पुराने पावर प्लांट तथा निर्माणाधीन ओबरा सी दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्र होने पर भी ओबरा नगर में उच्च स्तरीय हॉस्पिटल की व्यवस्था नहीं है। विशेषज्ञ सर्जन डॉक्टर की की भर्ती कराने की मांग की गई। राज्य मंत्री द्वारा उक्त समस्याओं पर आवश्यक कार्यवाही करने का आश्वासन दिया गया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!