उत्तराखंड में सियासी संकट दूर करने की कोशिश, नए मुख्यमंत्री को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म

उत्तराखंड बीजेपी का सियासी संकट नया मोड़ लेता दिख रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सोमवार की शाम नई दिल्ली में बीजेपी नेता अनिल बलूनी के घर पहुंचे। इससे पहले संसद भवन में अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उत्तराखंड के केंद्रीय पर्यवेक्षक दुष्यंत गौतम से मुलाकात की । इस बीच पार्टी महासचिव बीएल संतोष भी बीजेपी अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह से मिलने पहुंचे हैं। दरअसल सोमवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, संगठन महासचिव बीएल संतोष ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

खबरों के मुताबिक ये बैठक उत्तराखंड के सियासी हलचल को लेकर हुई । पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा पहले से ही अमित शाह के साथ बैठक कर रहे थे । बाद में संगठन महासचिव बीएल संतोष भी बैठक में पहुंचे । बैठक खत्म होने के बाद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी के घर मुलाकात के लिए पहुंचे ।

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से उत्तराखंड में मुख्यमंत्री बदलने की मांग के चलते मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को बीजेपी आलाकमान ने दिल्ली बुलाया था। माना जा रहा है कि बीजेपी उत्तराखंड में मुख्यमंत्री बदल सकती है । ध्यान रहे कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ कई मंत्रियों और विधायकों ने असंतोष जाहिर किया था । इसके बाद पार्टी ने दो केंद्रीय नेताओं को पर्यवेक्षक बनाकर देहरादून भेजा था। पर्यवेक्षकों में डॉ. रमन सिंह और दुष्यंत गौतम शामिल थे, जिन्होंने त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात कर चर्चा की और स्थिति का जायजा लिया था ।

खबरों के मुताबिक त्रिवेंद्र सिंह रावत के स्थान पर बीजेपी की ओर से धन सिंह रावत या फिर सतपाल महाराज के नाम की चर्चा सबसे ज्यादा है ।

हालांकि पार्टी अभी भी विधायकों के बीच मुख्यमंत्री के नाम सहमति बनाने की कोशिश कर रही है ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!