आरक्षण की आंच से कितनों के सपने स्वाहा

मनोहर कुमार

* कई के सपने को मिली धार।

* गांवों में बिछने लगी चुनावी बिसात।

* अब चुनावी तिथि की घोषणा का इंतजार।

चंदौली। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए विभिन्न पदों के लिए आरक्षण सूची जारी होने के बाद गांवों में राजनीति गरमाने लगी है।आरक्षण जारी होने के बाद से इसकी आंच से कई के सपने स्वाहा हो गए तो कई को सपने पूरा करने को धार मिल गई है। पंचायत चुनाव के लिए अब तिथि की घोषणा का इंतजार है। गांव में चुनाव लडने वी लड़ाने वालों की संख्या में इजाफा होने लगा है।अब दावेदार खुल कर सामने आने लगे हैं। इससे राजनीति को नई धार मिली है।
धान के कटोरे के रूप में विख्यात चंदौली जनपद में र्राजनीति की नई सुबह शुरू हो गई है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए विभिन्न पदों के आरक्षण जारी हो गए है। अब आपत्ति वी दावा का मौका है।दो दिन में इसका फैसला होने के बाद अंतिम प्रकाशन हो जायेगा। आरक्षण जारी होने के बाद से इसकी आंच से कई के सपने बिखर गए। गांव का प्रधान बनने का ख्वाब पालने वाले आरक्षण के चलते कुछ की अरमान खिल गया तो कुछ के टूटे हैं।कुछ अपनी पत्नी को या सगे संबंधी के जरिए चुनावी किला पर लोहा लेंगे। आरक्षण को लेकर कल दिन भर आंकड़े बाजी का दौर चलता रहा। बी डी सी वी जिला पंचायत सदस्य पद के लिए भी रोचक खेल सामने आनें लगे हैं।गांवों की राजनीति गरमाने लगी है। खर्चा चर्चा का दौर भी शुरू हो गया है।आरक्षण के बाद अब लोगों की निगाहे चुनावी तिथि पर टिकी है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!