गुजरात स्थानीय निकाय चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल के नेता ने दिया इस्तीफा

गुजरात स्थानीय निकाय चुनाव में कांग्रेस का लचर प्रदर्शन जारी है । नगर निगम चुनाव में करारी शिकस्त के बाद अब कांग्रेस को पंचायत स्तर पर हुए निकाय चुनाव में भी उसे शर्मनाक हार का मुंह देखना पड़ा है । कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रदेश अध्यक्ष अमित चावड़ा और विधायक दल के नेता परेश धनानी ने इस्तीफा दे दिया है ।

गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा ने पार्टी की हार का ठीकरा EVM पर फोड़ा, साथ यह भी कहा, ‘मैंने अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया है ।’ कांग्रेस विधायक दल के नेता परेश धनानी ने भी इस्तीफा भेज दिया ।

नगर निगम के बाद आज मंगलवार को नगरपालिकाओं, जिला पंचायतों और तालुक पंचायतों के लिए हुए चुनाव के नतीजे कांग्रेस के लिए बेहद खराब रहे हैं । राज्य के सभी जिला पंचायतों में कांग्रेस की हार हुई है, जबकि 2015 के चुनाव में 31 में से 22 पर कांग्रेस को जीत मिली थी ।

गुजरात की 81 नगरपालिकाओं, 31 जिला पंचायतों और 231 तालुका पंचायतों के लिए हुए चुनावों में रविवार को 60 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ था । कुल 8,235 सीटों पर चुनाव हुए ।बीजेपी ने 8,161 उम्मीदवार, कांग्रेस ने 7,778, आम आदमी पार्टी (AAP) ने 2,090 उम्मीदवार मैदान में उतारे ।

पिछले हफ्ते गुजरात नगर निगम चुनाव में बीजेपी ने सभी 6 नगर निगमों (अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, जामनगर, भावनगर और राजकोट) पर कब्जा जमा लिया. लेकिन इस चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया था । इस तरह से कुल 576 सीटों में से 483 सीट पर बीजेपी को जीत मिली । हालांकि कांग्रेस महज 55 सीटों पर सिमट गई. अपना पहला चुनाव चुनाव लड़ रही आम आदमी पार्टी को 27 सीट और एआईएमआईएम को 7 सीट पर जीत मिली । बीएसपी के खाते में तीन सीट गई, जबकि एक सीट पर निर्दलीय को जीत मिली ।

अहमदाबाद नगर निगम चुनाव में बीजेपी को 159 सीट, जबकि कांग्रेस को 25, एआईएमआईएम को 7 और एक निर्दलीय को जीत मिली । सूरत नगर निगम में बीजेपी ने ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस का सूपड़ा साफ कर दिया । यहां 120 सीटों पर बीजेपी को 93 सीटों पर जीत मिली. दूसरे नंबर 27 सीट जीतकर आम आदमी पार्टी रही ।कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला ।

वडोदरा नगर निगम चुनाव में बीजेपी को 69 और कांग्रेस को 7 सीट पर जीत मिली । जामनगर की 64 सीट में से 50 पर बीजेपी ने जीत हासिल की, जबकि 11 पर कांग्रेस और 3 पर बीएसपी के प्रत्याशी जीते । राजकोट नगर निगम की 72 सीट में से 68 पर बीजेपी और 4 पर कांग्रेस को जीत मिली । भावनगर नगर निगम की 52 सीट में से 44 पर बीजेपी और 8 पर कांग्रेस को जीत मिली ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!