समूह की महिलाओं ने वसूला 9 लाख बिजली बिल

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन से जुड़ी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं बिजली सखी बनकर विभाग का काम आसान बना रही हैं। महिलाएं गांव-गांव जाकर कनेक्शनधारकों से बकाया बिल वसूल रही हैं। 90 महिलाओं ने अब तक 651 उपभोक्ताओं से 9 लाख से अधिक बिजली बिल की वसूली कर विभाग के खाते में जमा कराया है। इसके बदले उन्हें तकरीबन 13020 हजार रुपये कमीशन भी मिल चुके हैं। बिजली सखी कनेक्शनधारकों की समस्याओं का भी समाधान कर रही हैं।

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार तमाम योजनाएं संचालित कर रही है। समूह की महिलाएं मास्क, ड्रेस सिलाई, पुष्टाहार तैयार कर रहीं तो खाद्यान्न वितरण प्रणाली को भी सुचारू बना रही हैं। सरकार ने महिलाओं को बैंक सखी, बिजली सखी की भी जिम्मेदारी सौंप दी है। जिले में 102 महिलाओं का चयन बिजली सखी के रूप में किया गया है। उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन की तरफ से महिलाओं को बकाया बिल की वसूली के बाकायदा प्रशिक्षण भी दिया गया। फिलहाल 90 महिलाएं बिजली बिल की वसूली का काम शुरू कर चुकी हैं। महिलाओं ने कुल 907995 रुपये बिजली बिल की वसूली की। इसके बदले उन्हें 13020 रुपये कमीशन भी प्राप्त हुए। नई पहल से विभाग का काम आसान हो रहा। वहीं ग्रामीण महिलाओं को रोजगार का अवसर भी मिल रहा है। वर्तमान में समूह सदस्यों का मीटर रीडर का कार्य भी करेंगी जिसके लिये 1500 कनेक्शन पर 8500.00 रू0 का मनादेय प्रतिमाह दिया जायेगा।

जिला मिशन प्रबंधक एम0जे0रवि ने बताया कि “बिजली सखी के रूप में जिले में स्वंय सहायता समूह की 102 महिलाओं का चयन किया गया है। 90 महिलाएं बिल वसूली का काम कर रही हैं। अब तक महिलाओं ने तीन माह में 907995 लाख बिल वसूला है। इसके बदले 13020 रुपये कमीशन भी मिल चुका है।”



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!