चक्का जाम करने जा रहे किसानों को पुलिस ने रोका, झड़प

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । हाइब्रिड धान खरीद की मांग को लेकर आज वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग पर चक्का जाम करने जा रहे किसानों को पुलिस ने रोक दिया। इस पर किसानों और पुलिसकर्मियों में जमकर नोकझोंक भी हुई। वहीं पुलिस की इस कार्यवाही से आक्रोशित किसानों ने जमकर नारेबाजी शुरू कर दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे एसडीएम सदर डॉ0 के0एस0 पांडेय ने किसानों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। किसानों ने एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। बवाल को देखते हुए कई किसान नेताओं को उनके घरों में ही नजरबंद कर दिया गया था। जबकि पूर्वांचल नव निर्माण मंच के उपाध्यक्ष गिरीश पांडेय को पुलिस ने उनके घर से ही उठा लिया और कोतवाली ले आयी।

बताते चलें कि पूर्वांचल नव निर्माण मंच के बैनर तले किसानों ने हाइब्रिड धान खरीद की मांग करते हुए दो पूर्व ही वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग पर चक्का जाम करने की चेतावनी दी थी। इसको देखते हुए जिले से भारी संख्या में किसानों का हुजूम मंडी परिसर में जुटने लगा। इसकी जानकारी होते ही पुलिस-प्रशासन में अफरा-तफरी मच गई। सीओ सिटी राजकुमार तिवारी, कोतवाली प्रभारी अविनाश चंद्र सिन्हा भारी पुलिस बल के साथ किसानों को रोकने के लिए मंडी परिसर में पहुंच गए। इधर किसान भी तय कार्यक्रम को लेकर वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग पर चक्काजाम करने के लिए निकलने लगे। इस पर पुलिस की तरफ से किसानों को चक्काजाम करने से रोकने लगी, इससे किसानों व पुलिस अधिकारियों के बीच जमकर झड़प हुई। बाद में एसडीएम सदर डॉ0 के0एस0 पांडेय ने किसानों को समझाबुझा कर शांत कराया और ज्ञापन लिया।

इस दौरान पूर्वांचल नव निर्माण मंच के जिलाध्यक्ष शनि मिश्रा, निगम मिश्रा, रमाकांत तिवारी, अभय पटेल, मनोज कुमार चौबे, अटल बिहारी ओझा, रविद्रनाथ सिंह, कैलाश पटेल, धर्मराज सिंह, रमाशंकर, राममूरत, राजेश सिंह, लवकुश देव, सत्यप्रकाश देव, कृष्ण कुमार, राजेश कुमार आदि किसान थे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!