नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारत की ऐतिहासिक जीत, दूसरे दिन ही इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया

मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए तीसरे टेस्ट में भारत ने दूसरे दिन ही इंग्लैंड को 10 विकेट से हरा दिया । इंग्लैंड ने दूसरी पारी में भारत को 49 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे इंडिया ने सिर्फ 7.4 ओवर में बिना कोई विकेट खोए हासिल कर लिया । भारत ने दूसरी बार इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया है । इससे पहले 2001 में मोहाली टेस्ट में भारत ने इंग्लैंड को 10 विकेट से मात दी थी ।

2018 में अफगानिस्तान की टीम ने बेंगलुरु में अपने टेस्ट इतिहास का पहला मैच खेला था । भारत ने उस टेस्ट मैच को दो दिन में पारी और 262 रनों से जीता था । भारत ने पहली पारी में 474 रन बनाए थे । जिसके जवाब में अफगानिस्तान की टीम ने पहली पारी में 109 और दूसरी पारी में फॉलोऑन करते हुए 103 रन बनाए थे । भारत ने चार मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त बनाई ।चौथा टेस्ट इसी स्थान पर 4 मार्च से खेला जाएगा ।

भारत ने इस तरह से चार मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त बनाकर विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में जगह बनाने की तरफ मजबूत कदम बढ़ाए । इंग्लैंड इस हार से फाइनल की दौड़ से बाहर हो गया है । टीम इंडिया चौथे मैच को ड्रॉ कराने पर भी जून में लॉर्ड्स में न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल खेलने का अधिकार हासिल कर लेगी ।

नरेंद्र मोदी स्टेडियम में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम पहली पारी में 112 रनों पर सिमट गयी । अक्षर पटेल ने छह और रविचंद्रन अश्विन ने तीन विकेट हासिल किए । भारत भी पहली पारी में कुछ खास नहीं कर पाया और पूरी टीम 145 रनों पर सिमट गई। ओपनर रोहित शर्मा 66 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली. जो रूट ने पांच और जैक लीच ने चार विकेट लिये । भारत को पहली पारी के आधार पर 33 रनों की महत्वपूर्ण बढ़त मिली ।

नरेंद्र मोदी स्टेडियम की स्पिनरों की मददगार पिच पर पहले दिन की तरह दूसरे दिन भी विकेटों का पतझड़ जारी रहा । दूसरे दिन कुल 17 विकेट गिरे । इंग्लैंड की टीम दूसरी पारी में महज 81 रनों पर आउट हो गई और भारत को 49 रनों का लक्ष्य मिला । इंग्लैंड का भारत के खिलाफ यह न्यूनतम स्कोर है । इससे पहले इंग्लैंड का भारत के खिलाफ न्यूनतम स्कोर 101 रन था, जो उसने 1971 के ओवल टेस्ट में बनाया था ।

दूसरी पारी में इंग्लैंड के चार बल्लेबाज तो अपना खाता भी नहीं खोल पाए । अक्षर पटेल ने पांच और रविचंद्रन अश्विन ने चार विकेट लिए । अक्षर ने मैच में 11 विकेट लिए, जो डे-नाइट टेस्ट में अबतक का बेस्ट प्रदर्शन है । साथ ही, अक्षर महज दूसरे भारतीय गेंदबाज हैं जिन्होंने अपने करियर के पहले दो टेस्ट मैचों में 3 बार पांच या उससे ज्यादा विकेट लिए । अक्षर से पहले नरेंद्र हिरवानी ने यह कारनामा किया था ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!