जिलाधिकारी ने की जिला टाॅस्कफोर्स समिति एवं संचारी रोग नियंत्रण के तैयारियों की समीक्षा

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे की अध्यक्षता में जिला टाॅस्क फोर्स व संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान की तैयारियों से सम्बन्धित समीक्षा बैठक गांधी प्रेक्षागृह में सम्पन्न हुई। जिला टाॅस्कफोर्स के तहत नियमित टीकाकरण की समीक्षा के दौरान अमरिया व ललौरीखेड़ा को कडे निर्देश देते हुये टीकाकरण करने के निर्देश दिये गये। नवजात शिशु के टीकाकरण में बरखेड़ा में छूटे बच्चों की संख्या अधिक होने पर असंतोष व्यक्त करते हुये डीसीपीएम को कड़ी चेतवानी देते हुये प्रगति लाने के निर्देश दिये गये। बैठक में समस्त एमओआईसी को संस्थागत प्रसवों को बढाने के निर्देश देते हुये कहा कि जनपद में ऐसे क्षेत्रों में जहां संस्थागत प्रसवो हेतु केन्द्र की आवश्यकता है उन क्षेत्रों के हेल्थ एवं वेल्थ सेंटरों पर संस्थागत प्रसव की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। ऐसे केन्द्रों की सूची व आवश्यक उपकरण के सम्बन्ध में सूचना उपलब्ध कराये, जिससे संस्थागत प्रसवों में प्रगति लाई जा सके। बैठक में आशा बहुओं के भुगतान के सम्बन्ध में समस्त डीसीपीएम को कडे़ निर्देश देते हुये कहा कि माह की 25 तारीख तक समस्त डाटा अपलोड कर एमओआईसी को फारवर्ड करना सुनिश्चित किया जाये अन्यथा कडी कार्यवाही की जायेगी। आरबीएसके की समीक्षा के दौरान कडे निर्देश देते हुये कहा कि आगामी दिनों में समस्त विद्यालय खोले जायेगें। समस्त टीमों को सक्रिय करते हुये बच्चों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण करना सुनिश्चित किया जाये यह कार्य प्राथमिकता के आधर पर किया जायेगा। दिव्यांग प्रमाण पत्र प्रभारी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी आर0बी0सिंह अनुपस्थित होने के कारण उनका वेतन रोकने के निर्देश दिये गये। विभिन्न मदो में भुगतानों की समीक्षा के दौरान डैम पूरनपुर व जिला मुख्यालय का कार्य संतोषजनक न होने के कारण भी वेतन रोकने के निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू करने हेतु आशा, आंगनबाडी व ऐनम की नियमित बैठक स्वास्थ्य केन्द्रों पर सम्पन्न की जाये तथा योजनाओं की समीक्षा करते हुये प्रगति सुनिश्चित की जाये।

जनपद में 01 मार्च से 31 मार्च के मध्य संचालित होने वाले संचारी व दस्तक अभियान की तैयारियों के सम्बन्ध में विभिन्न विभागों द्वारा कराये जाने वाले कार्यों के सम्बन्ध में समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा नगर पालिका, नगर पंचायत, कृषि विभाग, पंचायतीराज, पेयजल, पशुपालन, बाल विकास सहित सम्बन्धित विभागों को निर्देशित करते हुये कहा कि जारी शासनादेश के अनुसार कार्ययोजना तैयार कर तैयारियां पूर्ण करा ली जाये। गांव व नगरों में साफ सफाई के साथ जल भराव व गन्दगी के स्थानों लार्वा को नष्ट करने हेतु दवाईयों का छिडकाव कराना सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि वृहद अभियान संचालित कर सभी विभाग आपसी समन्वय स्थापित करते हुये संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण की कार्यवाही की जायेगी। इस अभियान के साथ साथ इस फ्रन्ट लाइन वर्करों के साथ टीबी के लक्षणों की पहचान के सम्बन्ध में भी कार्यवाही की जायेगी।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक संत प्रकाश, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, अपर मुख्य चिकित्साधिका डाॅ0सीएम चतुर्वेदी, प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (महिला) डाॅ0 अनीता चौरसिया, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (पुरूष) डाॅ0 आर0पी0सिंह सुमन सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!