नवागत जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला पर्यावरण समिति की बैठक सम्पन्न

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । नवागत जिलाधिकारी अभिषेक सिंह की अध्यक्षता ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष के मीटिंग हाल में जिला पर्यावरण समिति की बैठक सम्पन्न हुई।

बैठक में नवागत जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि “जिला पर्यावरण समिति में दिये जाने वाले दिशा-निर्देशों का अनुपालन किया जाय, पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण के मद्देनजर कूड़ा निस्तारण प्रबन्धन, वायु प्रदूषण व जल प्रदूषण नियंत्रण पर विशेष ध्यान दिया जाय। सम्बन्धित अधिकारी जल्द से जल्द अपने-अपने विभागों से सम्बन्धित रिपोर्ट उपलब्ध करायें।”

जिलाधिकारी ने कहा कि “जिला पर्यावरण समिति की बैठक राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण/एनजीटी के दिशा-निर्देशों के अनुरूप की जा रही है, जिसमें सभी पर्यावरणीय मानकों को पूरा करने यानी प्रदूषण नियंत्रण के लिए समयबद्ध कदम उठाये जाने हैं। उन्होंने कहा कि प्रदूषण नियंत्रण के लिए शहरी क्षेत्रों के लिए अधिशासी अधिकारीगण, कम्पनियों/औद्योगिक अधिष्ठानों के लिए क्षेत्रीय अधिकारी, उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, रोड के लिए लोक निर्माण विभाग, परिवहन के लिए परिवहन विभाग सहित अन्य सम्बन्धित विभाग अनुपालन सुनिश्चित करें। जरूरी संसाधनों को पूरा करने के लिए स्टीमेट तैयार करके मांग-पत्र अपने-अपने विभागाध्यक्षों को भेजे। उन्होंने कहा कि शहर के गंदे पानी का प्रदूषण कम करने के लिए वाटर ट्रीटमेन्ट प्लांट, कूड़ा उठान की व्यवस्था की जाय। सीवर लाइन ड्रनेज प्लान भी बनाया जाय। सड़क परिवहन के प्रदूषण पर भी कार्ययोजना बनाया जाय। मुख्य विकास अधिकारी व प्रभागीय वनाधिकारी समन्वय स्थापित करके टीम बनाकर अनुपालन व फीडिंग की क्रास चेकिंग कराते रहें। सड़कों को गढ्ढा मुक्त रखने के लिए नियमित कार्य किये जायें। मैटेरियल रिकवरी फैसिलटी सेन्टर/एमआरएफ को विकसित किया जाय। साफ-सफाई व पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण के प्रति जन जागरूकता के लिए समूचित प्रचार-प्रसार कराया जाय। पिछली बैठकों के लम्बित मामलों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाय और बैठकों में दिये गये निर्देशों का अनुपालन आने वाली बैठक में करा लिया जाय। शहरी इलाकों में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन किया जाय और किसी भी हाल में कूड़े को न जलाया जाय। जिले की वैट लैण्ड को संरक्षित किया जाय और पर्यावरण नियंत्रण के प्रति नागरिकों में जन जागरूकता किया जाय। अनपरा व उसके आस-पास के क्षेत्रों में एनजीटी के निर्देशों के अनुरूप प्रदूषण नियंत्रण का काम नियमानुसार किया जाय।”

बैठक में जिलाधिकारी अभिषेक सिंह के अलावा मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा, अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह, प्रभागीय वनाधिकारी संजीव कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी सदर डॉ0 कृपा शंकर पाण्डेय, क्षेत्रीय अधिकारी उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड राधेश्याम, डीसी मनरेगा टी0वी0 सिंह, परियोजना निदेशक आर0 एस0 मौर्या, सोनभद्र, जिला कृषि अधिकारी पीयूष राय, सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!