जिलाध्यक्ष, विधायक एवं जिलाधिकारी ने किया संयुक्त रूप से कई कार्यों का उद्घाटन

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

– जिलाधिकारी द्वारा नौका विहार का किया गया शुभारम्भ

– बनारस की तर्ज पर भक्तिमय माँ गोमती आरती में जिलाधिकारी द्वारा किया गया प्रतिभाग

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा माँ गोमती उद्गम स्थल को पर्यटन के रूप में विकसित करने के दृष्टिगत पूर्व निरीक्षण 29 नवम्बर 2020 को किया गया था। निरीक्षण के दौरान माँ गोमती उद्गम स्थल पर लाइट व्यवस्था, रेस्टोरेन्ट, औषधि वाटिका, फुलवारी, उद्गम रिवर फ्रंट, आदर्श गौशाला, ट्री हट, थारू हट, नौका बिहार व मन्दिरों के सौन्द्रीयकरण के साथ साथ नियमित माॅ गोमती की आरती के सम्बन्ध में दिशा निर्देश दिये गये थे, जिसके क्रम में उपरोक्त व्यवस्थाओं को विकासित करते हुये जिलाधिकारी के निर्देशन में माँ गोमती उद्गम स्थल को सुन्दर पर्यटन के रूप में विकासित किया गया है। आज शुक्रवार को जिलाध्यक्ष संजीव प्रताप सिह, विधायक पूरनपुर बाबूराम पासवान एवं जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा संयुक्त रूप से लाइट व्यवस्था, रेस्टोरेन्ट, औषधि वाटिका, फुलवारी, उद्गम रिवर फ्रंट, नव निर्मित आदर्श गौशाला, ट्री हट, थारू हट, नौका बिहार व मन्दिरों के सौन्द्रीयकरण सहित आदि कार्यों का फीता काटकर उद्घाटन किया गया। बनारस की तर्ज पर भक्तिमय माँ गोमती आरती में प्रतिभाग किया गया। इसके साथ ही साथ जिलाध्यक्ष, विधायक पूरनपुर एवं जिलाधिकारी द्वारा माॅ गोमती उद्गम स्थल पर वृक्षारोपण किया गया।
जिलाधिकारी के निर्देशन में गोमती उद्गम स्थल पर आम जनमानस व बच्चों को आकर्षित करने हेतु नौका विहार की व्यवस्था विकसित की गई है। जिलाधिकारी द्वारा नौका विहार का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर विधायक पूरनपुर एवं जिलाधिकारी द्वारा झील में वोटिंग की गई। आम जनमानस व आने वाले पर्यटकों/श्रद्धालुओं प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से सायं 5 बजे तक नौका विहार का आनन्द उठा सकेगें और साथ ही साथ प्रतिदिन बनारस की तर्ज पर भक्तिमय माँ गोमती आरती में सायं 5 बजे प्रतिभाग कर सकेगें। इसके उपरान्त प्रतिदिन माँ गोमती कथा से सम्बन्धित म्यूजिक एवं लाइट शो का आनन्द सांय 5:30 बजे से प्राप्त कर सकेगें। माँ गोमती उद्गम स्थल पर पर्यटकों/श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए रेस्टोरेन्ट संचालित किया गया है और साथ ही साथ थारू हट/ट्री हट विकसित कर रूकने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

पर्यटक स्थल के रूप में पर्यटकों/श्रद्धालाुओ को आकर्षित करने हेतु आदर्श गौशाला विकासित की गई, आदर्श गौशाला में जर्सी, होल्स्टीन फ्रिसियन एवं साहीवल गाय सहित विभिन्न प्रजातियों की गायों को संरक्षित किया गया। माँ गोमती उद्गम स्थल पर लाइट की पर्याप्त व्यवस्था उपलब्ध कराई गई व जिला उद्यान विभाग द्वारा सुन्दर सुन्दर फूलों/पौधों का रोपण कर पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बनाया गया है। जिससे स्थल की प्राकृतिक सुन्दरता में और अधिक भी निखार आया है जिससे पर्यटक प्राकृतिक वातवरण का लुप्त उठा सकेगें।

माँ गोमती उदगम स्थल पर झीलों के किनारे रिवर फ्रंट के रूप में विकसित करते हुये औषधि एवं विभिन्न प्रजतियों के पुष्प के पौधे लगाये गये है जो अत्यन्त आकर्षित एवं मनमोहक हैं। माँ गोमती उद्गम स्थल पर जाने वाले मार्ग का चौड़ीकरण कर लाईटों की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है तथा मन्दिरों की रंगाई पुताई कर सुन्दर बनाया गया है। माँ गोमती उद्गम स्थल पर म्यूजिक व लाइट शो अत्यन्त मनमोहक एवं हृदय को लुभाता है तथा स्थापित फाउन्टेन से गोमती की सुन्दरता अत्यन्त मनमोहक हो गई है।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवास मिश्र, अपर जिलाधिकारी न्यायिक देवेन्द्र प्रताप मिश्र, जिला विकास अधिकारी योगेन्द्र पाठक, समस्त उप जिलाधिकारी सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!