अवैध खनन व परिवहन के खिलाफ प्रशासन ने बनाया नया प्लान, बिठाया 24 घण्टे का पहरा

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

अब अवैध परिवहन व ओवरलोडिंग करने वालों की खैर नहीं

अब राजस्व, खनन व पुलिस विभाग की संयुक्त टीम अब 24 घंटे यानी राउण्ड द क्लाक करेंगी जाँच

8-8 घंटे की तीन शिफ्टों में राजस्व, खनन व पुलिस विभाग की टीम करेंगी राउण्ड द क्लाक ड्यूटी

मारकुण्डी से लेकर टोल प्लाजा तक लगाये जायेंगें नो इण्ट्री जोन के बोर्ड

हल्के व छोटे वाहनों के अलावा जानबूझकर ओवरलोड व अवैध ट्रकों को खड़ा पाये जाने पर की जायेगी कार्यवाही

नम्बर प्लेट बदलकर अवैध परिवहन करने वाले ड्राइवरों का ड्राइवरी लाइसेंस भी होंगे निरस्त

जनपद न्यूज Live लगातार उठा रहा है अवैध परिवहन व ओवरलोड का खेल

जनपद न्यूज Live ने सबसे पहले उठाया था सवाल, 12 घण्टे की छूट में सेटिंग से निकल रही ओवरलोड गाड़ियां

सोनभद्र । जिले में अवैध खनन व परिवहन रोकने की दिशा में प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है । जिस तरह से पिछले कुछ दिनों में प्रशासनिक कार्यवाही में कमियां सामने आई है, उसे देखते हुए प्रशासन की चिंताएं बढ़ गयी है ।

कोन में जिस तरह से प्रशासन की छापेमारी में मामला सामने आया है वह प्रशासन के लिए शर्मनाक ही कह सकते हैं । क्योंकि 16 में से 14 गाड़ियां बिना नम्बर की सोनभद्र में बिना किसी डर-भय के ओवरलोड बालू लादकर बेचने की फिराक में थी, जो छापेमारी में पकड़ी गई । इसके अलावा जिले के ऐसे कई स्थान हैं जहां से अवैध खनन व ओवरलोड परिवहन हो रहा है।

इन्हीं सब समस्याओं व चुनातियों को देखते हुए जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह ने जिले में उप खनिजों के ओवरलोडिंग व अवैध परिवहन को पूरी तरीके से अंकुश लगाने के निमित्त सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के साथ ही एक आवश्यक बैठक की।

बैठक में दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि जिले में उप खनिजों का अवैध परिवहन व ओवर लोडिंग नहीं होने दिया जायेगा। उन्होंने सड़क सुरक्षा पर विस्तार से चर्चा की और कहा कि जिस प्वाइंट से ओवरलोडिंग होती है और जो ओवरलोडिंग करते हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही किया जायेगा। राजस्व, खनन व पुलिस विभाग की संयुक्त टीम अब 24 घंटे यानी राउण्ड द क्लाक जॉच करने की कार्य करेंगी। उन्होंने बताया कि 8-8 घंटे की तीन शिफ्टों में राजस्व, खनन व पुलिस विभाग की टीम राउण्ड द क्लाक ड्यूटी पर रहेंगी। जब जॉच होती है तो टोल प्लाजा से पहले अवैध व ओवरलोडिंग गाड़ियाँ घुमाकर मारकुण्डी के तरफ या अन्यत्र वापस होते हैं, ऐसी अवैध गाड़ियों को वापस न होने के सम्बन्ध में भी व्यवस्था की जा रही है। ऐसे इन्तेजामात किये जा रहे हैं कि हल्के वाहन व एम्बुलेंस आदि को जाम लगने की स्थिति में भी आगे जाने व वापस आने के लिए छोटे-छोटे रोड के डिवाइडर की कटिंग कराकर जन सामान्य के यातायात को भी सुगम बनाया जाय। मुख्य उद्देश्य है कि ट्रकों यानी ओवरलोड वाहनों व अवैध परिवहन को हर हाल में रोकना है और इसमें जिस स्तर की संलिप्तता पायी जायेगी, उनके खिलाफ भी कानूनी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि मारकुण्डी से लेकर टोल प्लाजा तक नो इण्ट्री जोन के बोर्ड लगाये जायेंगें। हल्के व छोटे वाहनों के अलावा जानबूझकर ओवरलोड व अवैध ट्रकों को खड़ा पाये जाने पर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि जगह-जगह जरूरत के मुताबिक हाईटगेज भी लगाया जायेगा और हल्के वाहनों के आवागमन के लिहाज से डिवाइडर का छोटे-छोटे कट किये जायेंगें, जिसमें से छोटे वाहन आ-जा सकते हैं और बड़े वाहन नहीं आ जा सकते हैं।

वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि नम्बर प्लेट बदलकर अवैध परिवहन करने वाले ड्राइवरों का ड्राइवरी लाइसेंस भी निरस्त करने के साथ ही वाहन स्वामी के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी। नो पार्किंग जोन व जगह-जगह पर अन्य सड़क संकेतक बोर्ड उपसा द्वारा स्थापित किये जायेंगें। अब अवैध परिवहन व अवैध ओवर लोडिंग वालों की खैर नहीं होगी।

उप खनिजों के अवैध परिवहन व ओवरलोडिंग रोकने सम्बन्धी आवश्यक बैठक में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह के अलावा वरिष्ठ खान अधिकारी मोहम्मद महबूब, एआरटीओ पी0एस0 राय, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड चन्द्र प्रकाश, टीआई बागीश बिक्रम सिंह, उपसा के पदाधिकारीगण, मीडिया के नेसार अहमद सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!