राष्ट्रीय अध्यक्ष के बयान से नाराज पदाधिकारियों ने दिया इस्तीफा

अनिता अग्रहरि (संवाददाता)

धीना। भाकियू (अ) के बैनर तले किसानों का गोष्ठी गुरुवार को चिरईगांव में राधा कृष्ण मंदिर पर सम्पन्न हुआ।इसमें संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह के कृषि विधेयक किसानों के हित में बताने पर नाराजगी जताई गई।वही संगठन के 15 पदाधिकारियों ने मण्डल अध्यक्ष संत विलास सिंह को अपना सामूहिक इस्तीफा दे दिया।
भाकियू(अ)सदर के तहसील अध्यक्ष सुमंत सिंह अन्ना ने कहा कि भाजपा सरकार केवल किसान हितैषी होने का दम्भ भरती है।सरकार कृषि विधेयक को लाकर किसानों के हित पर कुठाराघात करने का काम किया है ।जबकि संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने बीते दिनों कृषि बिल को किसानों के हित का बताने का काम किया था।इसका हम सभी किसान घोर निंदा करते है।राष्ट्रीय अध्यक्ष के इस कृत्य से क्षुब्ध होकर सदर तहसील से जुड़े डेढ़ दर्जन पदाधिकारी सामूहिक इस्तीफा देने का काम कर रहे है।

इसमें राष्ट्रीय महासचिव राजेन्द्र शास्त्री, सुमंत सिंह अन्ना, महेश्वर सिंह, अर्जुन प्रजापति, जत्तन सिंह, अनिल सिंह, संजय सिंह, कामदार पांडेय, कमलेश सिंह, चंद्रमा सिंह, बैरिस्टर यादव, रामानन्द यादव, रमाशंकर सिंह, जयप्रकाश सिंह, हरबंश यादव शामिल है।किसानों के हित के बारे में न सोचने वाले संगठन में काम करने में घुटन महसुस हो रहा है।संगठन के बिना किसानों के हित के लिए हमेशा लड़ाई लड़ी जाएगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!