पंचायती राज निदेशक के पत्र से प्रधानों की उड़ी नींद, 25 दिसम्बर के बाद पावर सीज

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर तैयारियां युद्ध स्तर पर चल रही हैं । जहां गांव में प्रधान अपने अंतिम समय में अधूरे काम को पूरा करने में जुटे हुए हैं वहीं पंचायती राज निदेशक किंजल सिंह द्वारा 23 दिसबर को एक पत्र जारी करते हुए प्रधानों बड़ा झटका दिया है । किंजल सिंह ने सभी जिलाधिकारियों को आदेश जारी करते हुए कहा कि पंचम राज्य वित्त आयोग तथा 15वें वित्त आयोग से धनराशि के अंतरण पर 25 दिसम्बर की अर्धरात्रि के बाद संचालन पर रोक लगाने की अपेक्षा की गई है। आदेश के मुताबिक सभी ग्राम पंचायतों के खाता को नियत तिथि के बाद तत्काल अनरजिस्टर्ड करने का आदेश दिया गया है। इसकी जिम्मेदारी एडीओ पंचायत को सौंपी गयी है साथ ही यह निर्देश दिया गया है उक्त तिथि के बाद शासन द्वारा नामित अधिकारी ही ग्राम पंचायतों के खाते का संचालन कर सकता है। निदेशक ने स्पष्ट किया है कि इसके बाद किसी भी ग्राम पंचायत के प्रधान द्वारा एफटीओ अप्रूव किया जाता है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी सम्बंधित सचिव, बीडीओ और जिला पंचायत राज अधिकारी की होगी।

डीपीआरओ विशाल सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि सभी बीडीओ को इससे सम्बंधित निर्देश जारी कर दिया गया है।

उधर इस पत्र के बाद प्रधानों की नींद उड़ी हुई है, क्योंकि प्रधान चाहते थे कि चुनाव तक इस पर रोक ना लगाया जाए इससे विकास कार्य प्रभावित हो सकते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!