जाति प्रमाणपत्र न बनने से नाराज युवक ने तहसील में काटा बवाल

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

गाजीपुर । सैदपुर, जाति प्रमाण पत्र न बनने से आक्रोशित मनबढ़ युवक ने एक तहसील अधिकारी के साथ उनके चेंबर में अभद्रत व्यवहार किया । यह देख सभी भौंचक रह गए। कर्मचारियों ने उसे पकड़कर पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस युवक को पकड़कर थाना ले आई। बताया गया कि इसके पहले युवक ने अपने क्षेत्र के लेखपाल अनुराग भारद्वाज से भी अभद्रता की थी। तहसील अधिकारी ने लेखपाल अनुराग कुमार के माध्यम से युवक के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी।

जानकारी के मुताबिक बहेरी गांव निवासी युवक जितेंद्र कुमार गोंड (29) पुत्र श्यामलाल बीएड करने के बाद इलाहाबाद में रहकर नौकरी के लिए तैयारी करता है। बीते 8 दिसंबर को उसने अनुसूचित जनजाति के जाति प्रमाण पत्र के लिए आनलाइन आवेदन किया था। इसके बाद लेखपाल को आवश्यक कागजात दिया। जाति प्रमाण पत्र लेने तहसील के बगल में सहज जनसेवा केंद्र पर पहुंचा तो उसे पता चला कि उसका आवेदन निरस्त हो गया है। क्षेत्रीय लेखपाल अनुराग भारद्वाज के पास पहुंचा और निरस्त किए जाने का कारण पूछा। लेखपाल ने उसे तहसील में अधिकारी से बात करने को कहा। लेखपाल के मुताबिक युवक ने उनके साथ अभद्रता शुरू कर दी और कुछ देर बाद वहां से निकल गया। युवक सीधे तहसील पहुंचा और वहां एक अधिकारी से उनके चेंबर में मिला । जहां आवेदन निरस्त का कारण पूछने के दौरान अभद्र व्यवहार करने लगा ।

कोतवाल रविद्रभूषण मौर्या ने बताया कि लेखपाल अनुराग भारद्वाज की तहरीर मिली है कि युवक ने उनके साथ एवं तहसील अधिकारी के साथ अभद्रता की है ।

पूरे मामले पर बताया जा रहा है कि 1359 फसली के रिकार्ड में उसकी जाति का कोई जिक्र नहीं है। युवक द्वारा अनुसूचित जनजाति के जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया जा रहा है, लेकिन उससे संबंधित कोई कागजात उसके पास नहीं है। ये बताने पर वह आक्रोशित हो गया और हाथापाई करने लगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!