नाबालिक के चक्कर में पहले गांव की पंचायत और अब जिले के अधिकारी कर बैठे यह गलती, जिम्मेदार कौन ?

एस0 प्रसाद/आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

म्योरपुर । स्थानीय थाना क्षेत्र के एक गांव में बैठी पंचायत में शुक्रवार को एक अजीबों-गरीब फैसला पूरे जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है।

जानकरी के मुताबिक स्थानीय थाना क्षेत्र के एक गांव में एक सजातीय नाबालिक लड़की का उसी गांव के एक लड़के से प्रेम प्रसंग हो गया। उसी दौरान लड़की गर्भवती हो गयी। गर्भवती होने के बाद लड़की के घर पर कोहराम मच गया। मामला गांव के पंचायत में जा पहुंचा। घण्टों पंचायत के बाद अक्टूबर में लड़का लड़की को अपने घर ले जाने को तैयार हो गया और दोनों एक साथ पति-पत्नी के रूप में रहने लगे लेकिन लड़की की डिलेवरी के वक्त लड़का एक बार फिर यह कह कर मुसीबत खड़ा कर दिया कि बच्चा उसका नहीं और उसे मायके भेज दिया। जहां लड़की ने 12 दिसम्बर को एक लड़के को जन्म दिया। बच्चा जन्म के बाद लड़की के घर वाले एक बार फिर लड़के से संपर्क कर समझाने की कोशिश की मगर लड़का नहीं माना।

इस बाबत ग्राम प्रधान ने बताया कि वह भी काफी समझाया था लेकिन लड़का नहीं माना। जिसके बाद लड़की के घर वाले पुलिस को सूचना देकर मदद की गुहार लगाई। मामले की जानकारी के बाद आनन-फानन में गांव में एक बार फिर पंचायत बैठी लेकिन बात न बनने पर मामला जिले तक जा पहुंचा।

जिसके बाद जिला प्रोबेशन अधिकारी के दिशा-निर्देशानुसार महिला कल्याण की टीम गांव में पहुंचकर दोनों पक्षों को काफी देर तक समझाया। जिसके बाद लड़का लड़की को अपने साथ रखने को तैयार हो गया लेकिन अधिकारी व गांव की पंचायत ने यह तय किया कि जब लड़की बालिग हो जाएगी तो पुनः कानूनन शादी कराया जाएगा। उक्त शर्त टीम ने बाकायदा स्टाम्प पेपर पर दोनों पक्षों की रजामंदी में तय कराया। प्रधान ने बताया कि टीम ने लड़की को बच्चा सहित लड़के के घर भेज दिया। इस सम्बंध में दरोगा राजेश मौर्या ने बताया कि महिला कल्याण की टीम द्वारा लिखा-पढ़ी की गई है। जिसके बाद फैसला लिया गया।

गांव की पंचायत व जिले की टीम द्वारा किये गए इस फैसले के बाद लोग सवाल खड़ा कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि नाबालिक लड़की को पहले ही पंचायत के माध्यम से लड़के के घर भेज कर गलत किया गया और फिर एक बार प्रशासन की मौजूदगी में नाबालिक लड़की को लड़के के घर भेजने का फैसला कर दिया गया जो सरासर गलत है। लोगों का कहना हैं कि आखिर बालिग होने पर दोनों की कानूनी शादी होनी है तो आखिर उसे लड़के के घर क्यों भेजा गया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!