इको टूरिज्म के लिए गाजीपुर समेत 27 जिलों में खोजी जा रही जमीन

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। गंगा के किनारे के गांवों में इको टूरिज्म योजना बनाई जा रही है।गाजीपुर समेत प्रदेश के 27 जिलों में वन क्षेत्र की तलाश हो रही है। जिले में गंगा किनारे स्थित समधा ताल में इसकी संभावना खोजी जा रही है। कारण कि यहां पर 140 हेेक्टेयर में ताल है, इसमेें काफी जमीनें अतिक्रमण की जद मेें है। चूंकि इको टूरिज्म के लिये 20 हेक्टेयर जमीन की आवश्यकता है। इसमें हरियाली का माहौल बनाते हुए गंगा में बोटिंग वगैरह की सुविधा दी जानी है, ऐेसे में योजना परवान चढ़ती दिख रही है। ऐसी स्थिति में जिले का पर्यटन भी बढ़ सकता है और कालीन नगरी की छाप टूरिज्म मैप में दिखाई पड़ सकती है।
बढ़ सकती है गंगा किनारे गांवों की सुंदरता
इको पर्यटन बोर्ड की ओर से गंगा से लगे जिलों में गंगा किनारे इको टूरिज्म विकसित करने से गंगा तट पर लोगों को घूमने-टहलने व चंद पल सुकून से बिताने की एक अच्छी जगह उपलब्ध होगी, इसमें लगने वाले पेड़-पौधों से हरियाली भी बनी रहेगी। गंगा के किनारे गांवों की सुंदरता भी निखरेगी।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!