टीमों द्वारा सर्वेक्षण के दौरान लक्षणयुक्त पाये जाने पर कराई जाये कोरोना की जांच- नोडल अधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जनपद में कोविड-19 के नियंत्रण एवं संचारी रोग नियन्त्रण, स्वच्छता अभियान/पेयजल आदि की व्यवस्था को लेकर की जा रही कार्रवाई की समीक्षा बैठक अपर मुख्य सचिव, श्रम एवं सेवायोजन विभाग,उत्तर प्रदेश शासन सुरेश चन्द्रा की अध्यक्षता में गांधी सभागार कलेक्ट्रेट में सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा कोविड-19 की समीक्षा करते हुये एल वन अस्पताल व एल टू फैसिलिटी अस्पताल बारे में जानकारी प्राप्त की गई। जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण रहा है और निरन्तर मरीजों की संख्या में कमी आ रही है। उन्होंने नोडल अधिकारी को अवगत कराया कि दिनांक 13 दिसम्बर 2020 तक कुल एक्टिव केस 88 तथा जनपद रिकवरी रेट 95.93 है। जनपद में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु बाहर से आने वाली बसों के यात्रियों की कोविड जांच हेतु 04 केन्द्र बनाये गये हैं, जिन पर नियमित जांच कराई जा रही है। समीक्षा के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि मास्क और सैनाटाइजिंग के प्रति लोगों को जागरूक किया जाये तथा शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप नियमित टैस्टिंग का कार्य कराया जाये।
बैठक के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा होम आईसोलेशन माॅनीटिरिंग टीम, टेस्टिंग कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग माॅनीटिरिंग टीम सहित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर गहनता से समीक्षा की गई। इस दौरान होम आईलोशन की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया गया कि मरीजों से नियमित बातचीत की जाये तथा कंटोल रूम से प्रतिदिन सुबह शाम मरीजों को फोन काल्स के माध्यम से तापमान व पल्स आक्सीमीटर की जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दिये गये एवं आवश्यकता होने पर मेडिकल टीम द्वारा सुविधाऐं उपलब्ध कराई जाये। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा सर्विलांस टीम व टेस्टिंग के कार्यों की समीक्षा के दौरान अवगत कराया गया कि सर्विलांस टीम के द्वारा सर्वेक्षण के उपरान्त लक्षण युक्त पाऐ गये व्यक्तियों की टेस्टिंग टीम द्वारा तत्काल कोरोना जांच कराई जा रही है। सर्विलांस टीमों द्वारा सर्वेक्षण के दौरान लक्षणयुक्त पाए गए, समस्त व्यक्तियों की टेस्टिंग नियमित रूप से की जा रही है और प्रतिदिन टीमों द्वारा डोर टू डोर सर्वेक्षण अभियान संचालित किया जा रहा है। नोडल अधिकारी द्वारा डाटा फीडिंग संबंधी कार्यों की समीक्षा के दौरान समस्त कार्यों को निर्धारित समय में डाटा फीडिंग कार्य ससमय कराना सुनिश्चित किया जाये। डाटा फीडिंग करने में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये और साथ ही साथ आरोग्य सेतु ऐप व संजीवनी ऐप को भी अधिक से अधिक लोगों को अपलोड कराया जाये।
बैठक में जिलाधिकारी पुलकित खरे, मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवास मिश्र, जिला विकास अधिकारी योगेन्द्र पाठक, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, डीसी मनरेगा मृणाल सिंह, जिला कृषि अधिकारी विनोद कुमार यादव, जिला पंचायतराज अधिकारी, अन्य पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी के0पी0 सिंह, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!