मिशन कायाकल्प के तहत विद्यालयों के हैण्डपम्पों की मरम्मत/रिवोर की सूचना नियमानुसार करायें अपलोड- जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत ।जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा पूर्व में आहूत बैठकों में नोडल अधिकारी/जिला विकास अधिकारी को मिशन कायाकल्प के अन्तर्गत 14 पैरामीटरों में से पेयजल व्यवस्था एक महत्वपूर्ण मानक होने के कारण नोडल अधिकारी को प्राथमिकता के आधार पर जनपद के समस्त प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों में हैण्डपम्पों की मरम्मत/रिवोर कराते हुये सुदृढ़ बनाये जाने के निर्देश दिये गये थे। जिलाधिकारी द्वारा 03 दिसम्बर 2020 को मिशन कायाकल्प के अन्तर्गत उच्च/प्राथमिक विद्यालयों मे हैण्डपम्पों की मरम्मत/रिवोर से सम्बन्धित विवरण की समीक्षा किये जाने पर निम्नवत स्थिति पाई गई- विकासखण्ड अमरिया में प्राथमिक विद्यालय 30 व उच्च विद्यालय 20, ललौरीखेड़ा में प्राथमिक विद्यालय 22 व उच्च विद्यालय 14, बरखेडा में प्राथमिक विद्यालय 19 व उच्च विद्यालय 10, बीसलपुर में प्राथमिक विद्यालय 22 व उच्च विद्यालय 12, मरौरी में प्राथमिक विद्यालय 38 व उच्च विद्यालय 12, पूरनपुर में प्राथमिक विद्यालय 82 व उच्च विद्यालय 31 बिलसण्डा में प्राथमिक 29 व उच्च विद्यालय 11 है। इस प्रकार जनपद के प्राथमिक विद्यालय 242 व उच्च विद्यालय 110 की समीक्षा गई है।
जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के उपरान्त भी नोडल अधिकारी द्वारा कोई ठोस प्रयास न किये जाने के फलस्वरूप जनपद में अब तक 352 प्राथमिक/उच्च विद्यालयों में हैण्डपम्प मरम्मत/रिवोर होना शेष है। यह स्थिति बेहद असंतोषकजनक है, जो शासकीय कर्तव्यों के प्रति उदासीनता का द्योतक है।
जिलाधिकारी द्वारा नोडल अधिकारी/जिला विकास अधिकारी को चेतावनी प्रदत्त करते हुये निर्देशित किया गया है, कि अपने पर्यवेक्षण में एक विशेष अभियान चलाकर आगामी 07 दिवस में वर्णित प्राथमिक/उच्च विद्यालयों में हैण्ड पम्पों को नियमानुसार मरम्मत/रिवोर कराते हुये सम्बन्धित सचिवों से विद्यालयवार कार्य पूर्ण कराने का प्रमाण पत्र प्राप्त करते हुये जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पीलीभीत के माध्यम से मिशन कायाकल्प के सम्बन्धित पोर्टल पर सूचना नियमानुसार अपलोड कराना सुनिश्चित करें। उक्त कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!