कड़ाके की ठंड में किसान आंदोलन से राजीनीति गर्म, आज महत्वपूर्ण दिन

कृषि बिल को लेकर पिछले 7 दिनों से अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे किसानो के लिए आज का दिन महत्वपूर्ण रहेगा सरकार और किसानों के बीच वार्ता होगी । आज सबकी निगाह इस बात पर टिकी है कि वार्ता में रिजल्ट क्या निकल कर आता है ।

नोएडा दिल्ली बॉर्डर पर देर रात किसानों का हौसला देखते बना कड़ाके की ठंड में किसानों ने अलाव का सहारा लिया व खुले आसमान के नीचे सोने के लिए मजबूर हुए किसानों का कहना है कि अबकी बार आर पार की लड़ाई के मूड में है हम सरकार हमारी बात माने और कृषि बिल में संशोधन कर ले नहीं तो खेत में काम करने वाले एक साधारण से किसान को अपने हक के लिए सरकार से लड़ना पड़े तो वह लड़ेगा सरकार चाहे हमें दिल्ली जाने दे या ना जाने दे लेकिन हम यहां से यही अपनी बात कहेंगे कि सरकार हमारी बातों को मांने हमारे हक हमें दे ।

कृषि बिल में संशोधन को लेकर नोएडा दिल्ली बॉर्डर पर देर रात किसानों के द्वारा पड़ाव डाला गया इस दौरान किसानों ने बताया कि हमारी मांग सिर्फ सरकार से इतनी है की कृषि बिल में संशोधन करें या फिर इस बिल को वापस ले लेकिन सरकार निजीकरण की ओर ना जाए क्योंकि देश का किसान देश को अन्य देता है तो वह किसानों के साथ ऐसा ना करें कि किसान सरकार से लड़ने के लिए तैयार हो जाए किसानों ने कहा कि सरकार और किसानों के बीच वार्ता में अगर बात नहीं बनती है तो हम इसी प्रकार से शांतिपूर्ण तरीके से धरना प्रदर्शन देते रहेंगे और अपने घर नहीं जाएंगे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!